Corona की चेन तोड़ने देहरादून DM को क्यों बदलनी पड़ी टीम? इन्हें बनाया नोडल अधिकारी

कोरोना को काबू में रखने उत्तराखंड में बनाई गई नोडल अधिकारियों की टीम (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना को काबू में रखने उत्तराखंड में बनाई गई नोडल अधिकारियों की टीम (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना की चेन रोकने को लेकर प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है. पिछले दिनों डीएम देहरादून ने नोडल अधिकारी नामित किए थे. अब इसमें संसोधन करते हुए दोबारा नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं. बाकी के नोडल अधिकारी पहले की तरह रहेंगे.

  • Share this:

देहरादून. कोरोना वायरस का संक्रमण प्रदेश में लगातार बढ़ता जा रहा है. प्रशासनिक अमला इसको काबू में रखने को लेकर लगातार जुटा हुआ है. पिछले दिनों डीएम देहरादून ने फेसिलिटीवार नोडल अधिकारी नामित किए थे. अब इसमें कुछ संसोधन करते हुए दोबारा नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं. बाकी के नोडल अधिकारी पहले की तरह रहेंगे.

डीएम देहरादून आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि भारत भूमि ऋ षिकेश के लिए दिनेश चन्द्र उनियाल- अधिशासी अभियन्ता सिंचाई खण्ड देहरादून, सीएमआई के लिए रमेश चन्द्र-जिला आबकारी अधिकारी, आर्यन के लिए विजय प्रताप चैहान-अधिशासी अभियन्ता नगर पालिका परिषद डोईवाला, पीएचसी कालसी के लिए चन्द्र किशोर उनियाल-अभिशासी अभियन्ता सिंचाई खण्ड कालसी, कोरोनेशन के लिए बी.एस पाल-अधिशासी अभियता नलकूप खण्ड, कनिष्क के लिए संजय सिंह-अधिशासी अभियन्ता पी.एम.जी.एस.वाई खण्ड देहरादून, प्रेमसुख के लिए राघव डोभाल-अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान दक्षिण, एसडीएच मसूरी के लिए वीपी रतूड़ी-सहायक अभियन्ता पेयजल निगम शाखा मसूरी, मेडिकेयर एम.एस हॉस्पिटल के लिए विवेक प्रताप सिंह-सहायक अभियन्ता सिंचाई खण्ड विकासनगर, कैन्टोमेंन्ट हॉस्पिटल क्लेमेन्टाउन देहरादून के लिए विनोद कुमार यादव जिला मत्स्य अधिकारी देहरादून को नोडल अधिकारी नामित किया गया है.

Dehradun, Uttarakhand, Corona Infections, Corona Nodal Officer, कोरोना वायरस
कोरोना को काबू में रखने उत्तराखंड में बनाई गई नोडल अधिकारियों की टीम.

जिलाधिकारी ने नामित सभी नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोविड-19 के उपचार के लिए फेसिलिटी में समस्त व्यवस्थाओं जैसे बैड, आक्सीजन, एम्बुलेंस, स्टॉफ एवं दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे तथा नोडल अधिकारी जीवी फैसिलिटी मैनेजमेन्ट पी डी डीआरडीए और जिला पंचायतीराज अधिकारी देहरादून को स्थिति से अवगत कराएंगे.

Youtube Video

दरसअल, उत्तराखंड के 13 जिलों में हालात इस वक्त ठीक नहीं हैं..हरिद्वार जिले को छोडक़र बाकी 12 जिलों में पॉजिटिविटी रेट यानि संक्रमण की रफ्तार 10 परसेंट से ज्यादा है. जिनमें 8 जिले ऐसे हैं, जहां 20 परसेंट से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट है. इन जिलों में नैनीताल, रुद्रप्रयाग, टिहरी, ऊधमसिंह नगर,देहरादून, पौढ़ी, चमोली और पिथौरागढ़ शामिल हैं. 28 अप्रैल से 4 मई तक राज्य में करीब 2 लाख 37 हजार टेस्ट हुए और करीब 41 हजार केस आए हैंं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज