DRDO बना रहा है ऋषिकेश और हल्द्वानी में ऑक्सीजन बेड वाले अस्पताल

ऋषिकेश और हल्द्वानी में बन रहे हैं अस्थायी अस्पताल.

ऋषिकेश और हल्द्वानी में बन रहे हैं अस्थायी अस्पताल.

उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) की मदद करने के लिए डीआरडीओ ने हाथ बढ़ाया तो राज्य और रक्षा संस्थान (Defense Organisation) ने मिलकर कुल 1400 बेड के अस्पतालों के एक प्रोजेक्ट की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं.

  • Share this:

देश भर के साथ ही उत्तराखंड में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के प्रकोप के दौर में मरीज़ों की बढ़ती संख्या के मद्देनज़र इंतज़ाम किए जाने की ठोस कवायद हो रही है. ऋषिकेश और हल्द्वानी में दो कोविड केयर अस्पताल बनाए जा रहे हैं, जिनके लिए भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी DRDO ने ज़िम्मा उठाया है. यह अस्ल में उस प्रोजेक्ट का हिस्सा है, जिसके बारे में एक महीने पहले ही सूचना दी गई थी.

कोविड-19 से लड़ने के लिए करीब 800 बिस्तरों वाले दो अस्पताल उत्तराखंड के दो प्रमुख नगरों ऋषिकेश और हल्द्ववानी में DRDO द्वारा बनाए जा रहे हैं. समाचार एजेंसी एएनआई की मानें तो डीआरडीओ के अधिकारी ने जानकारी दी है कि हल्द्वानी के अस्पताल में 375 ऑक्सीजन बेड और 125 वेंटिलेटर बेड होंगे. वहीं, ऋषिकेश के अस्पताल में 400 ऑक्सीजन बेड और 100 वेंटिलेटर बेड होंगे.

ये भी पढ़ें : चार धाम यात्रा के लिए SOP जारी, जानें कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के साथ क्या हैं और शर्तें

1400 बेड के अस्पतालों की योजना
कुमाऊं और गढ़वाल क्षेत्रों में कुल मिलाकर 1400 बेड के अस्थायी अस्पतालों का प्रोजेक्ट अप्रैल महीने के आखिर में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा घोषित किया गया था. स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडे के हवाले से खबरों में कहा गया था कि हल्द्ववानी और ऋषिकेश में 500-500 बेड के अस्पताल बनाए जाएंगे.

uttarakhand news in hindi, rishikesh news, oxygen bed in uttarakhand, corona cases in uttarakhand, उत्तराखंड न्यूज़, ऋषिकेश न्यूज़, उत्तराखंड में ऑक्सीजन बेड, उत्तराखंड में कोविड-19
ऋषिकेश और हल्द्ववानी में अस्थायी कोविड अस्पतालों के बनने की पुष्टि एएनआई ने इन तस्वीरों के साथ की.

यही नहीं, हिमालयन अस्पताल में भी डीआरडीओ की मदद से ही 400 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था भी की जाने की बात पांडे ने कही थी. बताया गया था कि इनके अलावा 100 बेड आईसीयू सुविधा वाले भी होंगे. अब इस प्रोजेक्ट के शुरू हो जाने की पुष्टि न्यूज़ एजेंसी ने की है.



Youtube Video

कब शुरू होंगे ये अस्पताल और क्या है लागत?

जानकारी के मुताबिक डीआरडीओ द्वारा बनाए जा रहे ये दोनों अस्पताल 15 जून से शुरू हो सकते हैं. राज्य के प्रमुख सचिव के हवाले से खबरों में यह भी बताया गया कि करीब 40 करोड़ की राशि इस प्रोजेक्ट के लिए आवंटित की जा चुकी है.

माना जा रहा है कि ये सुविधाएं शुरू होने के राज्य में कोविड-19 के केसों में कमी आने के साथ ही मरीज़ों को जल्दी और उचित इलाज आसानी से मिल सकेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज