लाइव टीवी

देहरादून में शिक्षा विभाग की अनूठी पहल... कर्मचारियों के प्रोत्साहन के लिए दिए जा रहे ये ख़ास सम्मान

Bharti Saklani | News18 Uttarakhand
Updated: November 6, 2019, 11:37 AM IST
देहरादून में शिक्षा विभाग की अनूठी पहल... कर्मचारियों के प्रोत्साहन के लिए दिए जा रहे ये ख़ास सम्मान
देहरादून शिक्षा विभाग के शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को भी सम्मानित किए जाने से इनमें प्रोत्साहन का संचार हुआ है.

देहरादून में बीईओ ऑफ द मंथ (BEO of the month), प्रिसिंपल ऑफ़ द मन्थ (Principal of the month), टीचर ऑफ द मंथ (Teacher of the month) के साथ ही शिक्षणेतर कार्यों के लिए एम्पलॉइ ऑफ द मंथ (Employee of the month) के नाम से अवॉर्ड दिए जा रहे हैं.

  • Share this:
‌‌देहरादून. उत्तरकाशी (Uttarkashi) में सरकारी स्कूल में शिक्षक रहे आशीष डंगवाल (government teacher Ashish Dangwal) के ट्रांसफर के बाद कैसे पूरा गांव और बच्चे रो पड़े थे शायद आपको याद होगा. शिक्षा विभाग में उनके जैसे बहुत से शिक्षक हैं जिन्हें भले ही शैलेष मटियानी सम्मान (Shailesh Matiyani Award) या गर्वनर्स अवॉर्ड (Governors Awrd) नहीं मिल पाते लेकिन अपने काम के प्रति उनका समर्पण किसी से कम नहीं. देहरादून में ऐसे ही शिक्षकों की पहचान कर उन्हें सम्मानित किया जा रहा है. शिक्षकों के अलावा विभाग के अन्य कामों को चुपचाप करते रहने वाले शिक्षणेतर कर्मचारी को भी पहली बार पहचान मिल रही है.

सब आवेदन भी नहीं कर पाते गवर्नर्स अवॉर्ड के लिए 

शिक्षा विभाग में शैलेष मटियानी और गर्वनर्स अवॉर्ड सबसे प्रतिष्ठित सम्मान माने जाते हैं लेकिन तकनीकी पेचीदगियों और लंबी काग़ज़ी कार्रवाई होने के चलते हर शिक्षक इनके लिए आवेदन तक नहीं कर पाता. इसीलिए इस साल की शुरूआत से देहरादून में मुख्य शिक्षाधिकारी ऑफिस ने 4 नए सम्मान देने की शुरुआत की है.

देहरादून में उत्कृष्ट कार्य कर रहे शिक्षकों, बीईओ, प्रिसिंपल से लेकर क्लर्क तक के लिए नई पहल की गई है.  ज़िले की मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली ने कॉर्पोरेट की तर्ज पर शिक्षकों और विभाग में अन्य काम कर रहे कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने की योजना शुरु की है.

education department dehradun awards cerificate, देहरादून में बीईओ (खंड शिक्षा अधिकारी) ऑफ द मंथ, प्रिसिंपल ऑफ़ द मन्थ, टीचर ऑफ द मंथ के साथ ही शिक्षमेतर कार्यों के लिए एम्पलॉइ ऑफ द मंथ के नाम से अवॉर्ड दिए जा रहे हैं.
देहरादून में बीईओ (खंड शिक्षा अधिकारी) ऑफ द मंथ, प्रिसिंपल ऑफ़ द मन्थ, टीचर ऑफ द मंथ के साथ ही शिक्षमेतर कार्यों के लिए एम्पलॉइ ऑफ द मंथ के नाम से अवॉर्ड दिए जा रहे हैं.


प्रोत्साहन मिलता है 

देहरादून में बीईओ (खंड शिक्षा अधिकारी) ऑफ द मंथ, प्रिसिंपल ऑफ़ द मन्थ, टीचर ऑफ द मंथ के साथ ही शिक्षणेतर कार्यों के लिए एम्पलॉइ ऑफ द मंथ के नाम से अवॉर्ड दिए जा रहे हैं. इनमें दूरस्थ इलाके गुजराड़ा, मिसराज पट्टी, बुरांशखंडा, कालसी तक के शिक्षकों के काम को प्रोत्साहन मिला है. इसके लिए संबंधित कर्मचारी के लिए तय काम के आधार पर उनका मूल्यांकन किया जाता है.
Loading...

शिक्षणेतर कर्मचारियों को इस पुरस्कार से विशेष प्रोत्साहन मिला है. अगस्त की एम्पलॉइ ऑफ द मन्थ बनीं किरन कहती हैं कि लोगों को तो पता ही नहीं होता कि शिक्षा विभाग में शिक्षकों के अलावा और भी कर्मचारी होते हैं. ऐसे में यह पुरस्कार बहुत प्रोत्साहन देते हैं.

education department dehradun awards asha rani panyuli, देहरादून की मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली ने कॉर्पोरेट की तर्ज पर शिक्षकों और विभाग में अन्य काम कर रहे कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने की योजना शुरु की.
देहरादून की मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली ने कॉर्पोरेट की तर्ज पर शिक्षकों और विभाग में अन्य काम कर रहे कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने की योजना शुरु की.


स्वागत योग्य पहल 

उत्तराखंड में सरकारी स्कूलों की हालत किसी से छिपी नहीं है. शिक्षा विभाग अक्सर शिक्षकों के अनुपस्थित रहने और अन्य गलत कारणों से सुर्खियों में रहता है जो विभाग की न सिर्फ़ छवि ख़राब करती है बल्कि कर्मचारियों का मनोबल भी तोड़ती हैं.

ऐसे में यह पहल स्वागत योग्य है और उम्मीद की जानी चाहिए कि यह कर्मचारियों में उत्साह और सकारात्मक ऊर्जा का संचार करेगी.

ये भी देखें: 

अब शिक्षा विभाग में अनिवार्य सेवा निवृत्ति की तैयारी... 5000 से ज़्यादा शिक्षकों की होगी छुट्टी

VIDEO: निजी स्कूलों की मनमानी की हाईकोर्ट से शिकायत करेगा शिक्षा विभाग 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...