लाइव टीवी

ऋषिकेश के आबादी वाले क्षेत्रों में हाथियों का उत्पात, दहशत में लोग

Ashish Dobhal | News18 Uttarakhand
Updated: November 4, 2019, 10:48 AM IST
ऋषिकेश के आबादी वाले क्षेत्रों में हाथियों का उत्पात, दहशत में लोग
शहरी क्षेत्रों में हाथियों के आने से दहशत में हैं लोग.

हाथियों से परेशान वीणा देवी ने कहा कि सुबह 3.30 बजे इलाके में हाथी के आने के बाद उनकी गाय रंभाने लगी. वह घबराकर बाहर निकलीं तो हाथी पास की बाउंड्री वाल तोड़कर दूसरी तरफ चला गया.

  • Share this:
देहरादून. सर्दी (Winter) शुरू होते ही ऋषिकेश (Rishikesh) के आबादी वाले छेत्रों में हाथियों (Elephants) के आने से लोगों में दहशत फैलने लगी है. जंगलों से निकल कर हाथी आबादी वाले छेत्रों में रात के समय उत्पात मचाने लगे हैं. ऋषिकेश के चारों ओर जंगल और राजाजी टाइगर रिजर्व (Rajaji Tiger Reserve) का छेत्र है. ऐसे में खाना और पानी की तलाश में हाथी बस्तियों की ओर चले आ रहे हैं. इस वजह से लोगो में दहशत बढ़ने लगी है. प्राय: हर दिन हाथियों का झुंड फसलों को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ मकानों की बाउंड्री तोड़ रहा है. इस बारे में वन विभाग का कहना है कि उनकी रात्रि गश्त टीम तैयार है. यह टीम सूचना मिलते ही हाथियों को काबू करेगी.

हाथियों से परेशान वीणा देवी ने कहा कि सुबह 3.30 बजे इलाके में हाथी के आने के बाद उनकी गाय रंभाने लगी. वह घबराकर बाहर निकलीं तो हाथी पास की बाउंड्री वाल तोड़कर दूसरी तरफ चला गया.

हाथियों से परेशान वीणा देवी ने कहा कि उनकी गाय घबारकर रंभाने लगी.


सतर्क हैं वन विभाग के कर्मी 

वहीं राजाजी टाइगर रिजर्व के वार्डन अजय शर्मा ने कहा कि पार्क का क्षेत्र होने के कारण हाथियों का आना-जाना रहता ही है. उन्होंने कहा कि बरसात के दौरान हाथी नीचे की तरफ थोड़ा कम आते-जाते हैं, क्योंकि तब उन्हें पानी सभी जगह मिलता है. उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में हाथियों के घूमने को लेकर वन विभाग के कर्मी सतर्क होते हैं. उनकी कोशिश होती है कि हाथियों को शहर में घुसने नहीं दिया जाए. फिर उन्होंने कहा कि यह राजाजी पार्क का क्षेत्र है. इसलिए इधर हाथियों का आना जाना लगा रहेगा.

ये भी पढ़ें - चारधाम: पहुंचे रिकॉर्ड 32 लाख श्रद्धालु, PM मोदी के आगमन से बढ़ी दिलचस्पी

ये भी पढ़ें - CBI जांच मामले में हरक सिंह रावत वापस ले सकते हैं अपनी याचिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...