लाइव टीवी

आबादी के बोझ से कराह रही है योगनगरी, सड़कों पर चलने की जगह नहीं छोड़ी अतिक्रमण ने

Ashish Dobhal | News18 Uttarakhand
Updated: January 16, 2019, 12:41 PM IST
आबादी के बोझ से कराह रही है योगनगरी, सड़कों पर चलने की जगह नहीं छोड़ी अतिक्रमण ने
ऋषिकेश में अतिक्रमण और अवैध पार्किंग की वजह से सड़कों पर चलना भी मुश्किल हो गया है.

मेयर अनीता ममगाईं कहती हैं कि पार्किंग की समस्या को दूर करने के लिए निगम पहल करने जा रहा है.

  • Share this:
योग नगरी के रूप में विश्व के नक्शे में ख़ास पहचान रखने वाला ऋषिकेश आबादी के बोझ तले कराह रहा है. अनियोजित विकास ने इसकी सूरत ही बिगाड़ के रख दी है. न तो चलने के लिए सड़कें हैं और न ही गाड़ियों के लिए पार्किंग. शहर में सड़कों पर लगने वाले जाम की वजह से न गाड़ियां चल पा रही हैं और न ही आदमी.

देवभूमि का प्रवेश द्वार ऋषिकेश योग, आध्यात्म और पर्यटन के क्षेत्र में अपनी एक विशेष पहचान रखता है. साल भर यहां धार्मिक, साहसिक और आध्यात्मिक पर्यटन को लेकर देश विदेश के लोग आते  हैं लेकिन राज्य निर्माण के चंद सालों में ऋषिकेश की तस्वीर अनियोजित विकास में बदल के रख दी है. इसकी वजह से यहां आने वाले तीर्थयात्रियों के साथ-साथ देशी-विदेशी पर्यटकों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

दरअसल शहर ऐसा है जहां पार्किंग की सुविधा लगभग न के बराबर है और वाहन सड़कों पर ही खड़े किए जाते हैं. रही-सही कसर अतिक्रमण से पूरी हो जाती है और सड़कों पर न गाड़ियों के चलने की जगह बचती है और न ही आदमी के.

स्थानीय निवासी अनिल गुप्ता ने शहर में अतिक्रमण के ख़िलाफ़ नैनीताल हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. हाईकोर्ट ने अगस्त 2018 में शहर में सरकारी ज़मीन पर हुए सभी अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया था लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ. अब अनिल गुप्ता न्यायालय की अवमानना की याचिका दायर करने की तैयारी कर रहे हैं.

ऋषिकेश इस बार नगर निगम बना है और ज़ाहिर तौर पर शहर की सरकार के पास अब ज़्यादा संसाधन हैं. मेयर अनीता ममगाईं कहती हैं कि पार्किंग की समस्या को दूर करने के लिए निगम पहल करने जा रहा है. निगम की अगली बैठक में निगम की भूमि पर पार्किंग निर्माण को लेकर प्रस्ताव लाया जाएगा ताकि चीज़ें व्यवस्थित हो पाएं.

राज्य गठन के 18 सालों बाद भी कोई भी सरकार उत्तराखंड के शहरों लिए मास्टर प्लान नहीं ला पाई  जिसका नतीजा का नतीजा ऋषिकेश की तस्वीर रोज़-रोज़ के जाम से बदनुमा होती जा रही है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्सखुशखबरी.... पुलिस में नौकरी का मौका, फरवरी में 1400 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू

PHOTOS: तड़पाए-तरसाए रे और जाम लगवाए रे... हाय,  देहरादून की सर्दी

PHOTOS: अल्मोड़ा में सड़क के शिलान्यास की ख़ुशी में जमकर नाचे लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टिहरी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2019, 12:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर