लाइव टीवी

प्रदेश18 विशेष: पूर्व मुख्यमंत्रियों के सरकारी वाहनों पर लाखों खर्च, कोश्यारी टॉप पर

Mukesh Kumar | ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 9, 2016, 12:56 PM IST
प्रदेश18 विशेष: पूर्व मुख्यमंत्रियों के सरकारी वाहनों पर लाखों खर्च, कोश्यारी टॉप पर
कोश्यारी का कहना है कि सरकार ने गाड़ी और ड्राईवर सब कुछ फ्री दे रखा था.जो चीज सरकार ने दे रखी है उस पर पूर्व मुख्यमन्त्रियों का क्या कसूर है

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमन्त्रियों के सरकारी आवास का मामला चर्चा में है. कोर्ट की सख्ती के बाद भी कई पूर्व मुख्यमन्त्री सरकारी बंगलों में काबिज हैं. वहीं दूसरी ओर आरटीआई के जरिये एक नया खुलासा हुआ है. पूर्व मुख्यमन्त्री सरकारी बंगलों में ही काबिज नहीं हैं बल्कि सरकार की ओर से मिले वाहनों में भी लाखों का ईंधन फूंक डाला है.

  • Share this:
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमन्त्रियों के सरकारी आवास का मामला चर्चा में है. कोर्ट की सख्ती के बाद भी कई पूर्व मुख्यमन्त्री सरकारी बंगलों में काबिज हैं. वहीं दूसरी ओर आरटीआई के जरिये एक नया खुलासा हुआ है. पूर्व मुख्यमन्त्री सरकारी बंगलों में ही काबिज नहीं हैं बल्कि सरकार की ओर से मिले वाहनों में भी लाखों का ईंधन फूंक डाला है.


सरकारी सेवाओं का दोहन कैसे किया जाता है इसका ताजा नमूना आपके सामने है. आरटीआई के जरिये मिली सूचना से खुलासा हुआ है कि प्रदेश के तमाम पूर्व मुख्यमन्त्रियों ने लाखों का ईंधन सरकारी वाहनों में फूंक डाला है. सभी पूर्व मुख्यमन्त्रियों के वाहनों में ईंधन का खर्च एक करोड़ से भी ज्यादा का है.



BC Khanduri
BC Khanduri



आंकड़े देखकर आप चौंक जायेंगे. ये मामला तब और गंभीर हो जाता है जब सरकारी आवास खाली करने का आदेश हाईकोर्ट की ओर से दिया जा चुका है. आवास से जुड़ी जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान भी कोर्ट में इस खर्च का जिक्र किया गया है.


ये है पूर्व मुख्यमन्त्रियों के वाहनों के ईंधन पर हुआ खर्च


    पूर्व सीएम             ईंधन पर खर्च          वाहन के रख रखाव पर खर्च      कुल खर्च

भगत सिंह कोश्यारी          41,84600.00          24,23,768.00               66,08,368.00

एनडी तिवारी               15,56,725.00          3,71,987.00                19,28,712.00       भुवन चंद्र खण्डूरी            20,45,214.00          6,78,387.00                27,23,601.00  

रमेश पोखरियाल निशंक     33,57,636.00          9,76,346.00               43,33,982.00

विजय बहुगुणा               5,56,099.00           2,15,007.00               7,71,106.00


जाहिर है पूर्व मुख्यमन्त्रियों की ओर से वाहनों में ईंधन खर्च की रकम को जोड़ दें तो करोड़ों में पहुंच जाती है. हालांकि जब सरकारी मशीनरी ही ये सेवाएं दे रही हो तो फिर सवाल कैसे उठ सकते हैं. पूर्व सीएम विजय बहुगुणा के अधिवक्ता विकास बहुगुणा कहते हैं कि सरकारी आवास हम खाली कर देंगे और ईंधन का मामला लिखित में कोर्ट के सामने नहीं आया है.


rti1

फ़्यूल खर्च में भगतदा यानि पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी का नाम टॉप पर है और सरकारी वाहन पर खर्च की धनराशि 66 लाख के पार.


भगत दा से सवाल जब सरकारी आवास खाली करने पर पूछा जाता है तो जवाब वाहन तक का खुद ही दे रहे हैं. कहते हैं कि सरकार ने गाड़ी और ड्राईवर सब कुछ फ्री दे रखा था. जो चीज सरकार ने दे रखी है उस पर पूर्व मुख्यमन्त्रियों का क्या कसूर है.

rti2


बहरहाल ये आंकड़े जाहिर कर रहे हैं कि पूर्व मुख्यमन्त्रियों ने पहाड़ की सेवा के नाम पर सरकारी गाड़ियों को खूब दौड़ाया है. जनता भी इन आंकड़ों को देख रही है कि कैसे उसकी गाढ़ी कमाई को वाहनों की सवारी में फूंक दी गई.पुरानी कहावत है मुफ्त का चंदन घिसे रघुनंदन.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2016, 12:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर