बैलेट पेपर पर पहली बार NOTA: देहरादून में 2369 मतदाताओं ने सभी मेयर प्रत्‍याशि‍यों को नकारा

बैलेट पेपर पर NOTA का पहली बार उपयोग उत्तराखंड के निकाय चुनाव में देखने को मिला. नोटा का विकल्‍प मिलने पर उत्तराखंड के निकाय चुनाव में इसका जमकर उपयोग भी किया गया.

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: November 22, 2018, 4:39 PM IST
बैलेट पेपर पर पहली बार NOTA:  देहरादून में 2369 मतदाताओं ने सभी मेयर प्रत्‍याशि‍यों को नकारा
प्रतीकात्मक तस्वीर
satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: November 22, 2018, 4:39 PM IST
उत्तराखंड में निकाय चुनाव के दौरान पहली बार बैलेट पेपर (मतपत्र) पर नोटा यानी 'नन ऑफ द अबव' को जगह मिली. मतदाताओं ने भी जमकर नोटा का उपयोग किया. अब तक ये व्यवस्था केवल ईवीएम मशीनों में ही थी. पहली बार उत्तराखंड के निकाय चुनाव में नोटा का उपयोग बैलेट पेपर में भी देखने को मिला. नोटा का विकल्‍प मिलने पर उत्तराखंड के निकाय चुनाव में इसका जमकर उपयोग भी किया गया.

देहरादून में मेयर प्रत्याशियों के लिए करीब 2369 मतदाताओं ने नोटा पर मुहर लगाई है. रुद्रपुर नगर निगम में 790 मतदाताओं ने नोटा पर मुहर लगाई, काशीपुर में 747 मतदाताओं ने, हल्द्वानी में 848 मतदाताओं ने, हरिद्वार मेयर प्रत्याशियों के लिए 809 मतदाताओं ने नोटा पर मुहर लगाई, ऋषिकेश नगर निगम में 306 मतदाताओं ने, नगर पालिका के 39 अध्यक्ष सीटों में करीब 2500 वोट नोटा को गए और नगर पंचायत के 38 अध्यक्षों के सीटों पर करीब 750 मतदाताओं ने नोटा पर मुहर लगाई.

किसी पार्टी का कोई उम्मीदवार पसंद नहीं होने पर उनमें से किसी को भी अपना वोट न देने की सूरत में मतदाता नोटा का बटन दबा सकते हैं. ईवीम मशीन में NONE OF THE ABOVE यानी  NOTA का गुलाबी बटन होता है.

 

ये भी पढ़ें:- निकाय चुनावः महिलाओं ने दर्ज की अपनी धमाकेदार उपस्थिति

उत्तराखंड क्रांति दल का सूपड़ा साफ़… SP, AAP का खाता भर खुला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2018, 7:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...