बंदरों की नसबंदी के लिए वन विभाग में वेटनरी डॉक्टरों की भर्ती करेगा वन विभाग

राज्य सरकार केंद्र से यह आग्रह भी करने वाली है कि वन्य जीवों से फ़सलों को होने वाले नुक़सान को भी इसमें प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना में शामिल किया जाए.

News18 Uttarakhand
Updated: August 2, 2019, 7:57 PM IST
बंदरों की नसबंदी के लिए वन विभाग में वेटनरी डॉक्टरों की भर्ती करेगा वन विभाग
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में कृषि एवं उद्यान विभाग की समीक्षा की.
News18 Uttarakhand
Updated: August 2, 2019, 7:57 PM IST
उत्तराखंड में बंदरों से फ़सलों को हो रहे नुक़सान को रोकने के लिए 27 वेटनरी डॉक्टरों की भर्ती की जाएगी. ये डॉक्टर मुख्यतः बंदरों की नसबंदी करेंगे ताकि उनकी आबादी पर नियंत्रण किया जा सके. किसानों को राहत देने के लिए राज्य सरकार केंद्र से यह आग्रह भी करने वाली है कि वन्य जीवों से फ़सलों को होने वाले नुक़सान को भी इसमें प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना में शामिल किया जाए. यह बातें कृषि और उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अपने दोनों विभागों की समीक्षा बैठक के बाद कही.

सीएम ने की कृषि एवं उद्यान विभाग की समीक्षा 

बता दें कि सीएम डेशबोर्ड ‘उत्कर्ष’ में विभिन्न विभागों की प्रगति की समीक्षा की जा रही है. सरकारी विभागों में आउटकम अधारित डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए की-प्रोग्रेस इंडिकेटर तैयार किए गये हैं. इसे अधिकारियों के वार्षिक पर्फॉर्मेंस मूल्यांकन से जोड़ा गया है. इसके तहत 143 प्राथमिकता वाले कार्यक्रम रखे गए हैं. इसी क्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में कृषि एवं उद्यान विभाग की समीक्षा की.

कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों को जो मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किए जा रहे हैं, उनका सही इस्तेमाल हो. विशेषकर पर्वतीय क्षेत्रों में इस बात का विशेष ध्यान दिया जाए कि किसानों को इसका लाभ हो. यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा के लिए जो क्लेम हो रहे हैं, उनका भुगतान जल्द हो. लघु व सीमांत कृषकों तक कृषि यंत्रों की पहुंच हो, इसके लिए फार्म मशीनरी बैंक की सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाए.

रोजगार का भी आकलन हो 

मुख्यमंत्री ने कहा कि एकीकृत कृषि को बढ़ावा दिया जाए. परम्परागत फसलों मण्डुवा, सॉवा, रामदाना, गहत के उत्पादन में कैसे वृद्धि की जा सकती है, इसके लिए प्रयास किए जाए. कृषकों को इसके लिए प्रोत्साहित भी किया जाए. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत लाभार्थियों के पंजीकरण की जानकारी भी ली.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका भी आकलन किया जाए कि जमीनी स्तर पर कृषि एवं उद्यान के क्षेत्र में रोजगार की उपलब्धता क्या रही उन्होंने उद्यान विभाग में रिक्त पदों को भरने से पूर्व कृषि एवं उद्यान विभाग में कुल पदों की स्थिति की जानकारी करने के बाद सरप्लस पदों पर भर्ती की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए.
Loading...

योजनाओं की 90% से ज़्यादा प्रगति  

कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने बैठक के बाद दावा किया कि उनके विभागों में योजनाओं की प्रगति अच्छी है. उनके दोनों विभागों की योजनाओं की 90 प्रतिशत से ज्यादा प्रगति है. उनियाल ने कहा कि किसान सम्मान निधि में 90 प्रतिशत से ज्यादा किसानों को योजना का लाभ मिल चुका है, बाकी बचे  हुए किसानों के खाते में जल्द ही सम्मान निधि की राशि पहुंच जाएगी.

उन्होंने बताया कि वही मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि बंदरो सें फसल को हो रहे नुकसान को लेकर बैठक में चर्चा की गई है. मुख्यमंत्री ने निर्णय लिया है कि वन विभाग में 27 वेटनरी डॉक्टरों के पद सृजित किए जाएंगे ताकि बन्दों की नसबंदी की दिशा में काम बेहतर हो सके.

यह भी देखेंः 

VIDEO: दो लाख किसानों को उत्तराखंड सरकार देगी 2 फीसदी ब्याज पर लोन

उत्तराखंड में एक और किसान की मौत, कर्ज़ वसूली के लिए धमका रहे थे बैंक
First published: August 2, 2019, 7:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...