वन मंत्री अपनी उपेक्षा से हुए नाराज, मंत्री पद छोड़ने की दी धमकी

फॉरेस्ट चीफ जयराज की विदेश दौरे से खफा वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि वह मंत्री पद छोड़ देंगे. उन्हें मंत्री पद का कोई लालच नहीं है.

News18 Uttarakhand
Updated: May 17, 2019, 1:39 PM IST
वन मंत्री अपनी उपेक्षा से हुए नाराज, मंत्री पद छोड़ने की दी धमकी
अपनी सरकार द्वारा उपेक्षा किए जाने से नाराज चल रहे हैं वन मंत्री हरक सिंह रावत
News18 Uttarakhand
Updated: May 17, 2019, 1:39 PM IST
फॉरेस्ट चीफ जयराज की विदेश दौरे से खफा वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि वह मंत्री पद छोड़ देंगे. उन्हें मंत्री पद का कोई लालच नहीं है. दरअसल विभागीय मंत्री को बताए बिना फॉरेस्ट चीफ जयराज की विदेश दौरे की अनुमति संबंधी पत्रावली कार्मिक विभाग से सीधे मुख्यमंत्री को भेजे जाने पर वन मंत्री हरक सिंह रावत बेहद नाराज हैं. उन्होंने यहां तक कह दिया कि अगर अफसरों और मुख्यमंत्री को ही सीधे फैसले लेने हैं तो फिर मंत्रियों की क्या जरूरत है. वन मंत्री ने इस मामले में प्रमुख सचिव कार्मिक को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जता दी है. उन्होंने पत्र में साफ लिखा है कि विभागाध्यक्षों की विदेश यात्रा की अनुमति के लिए फाइल सीधे मुख्यमंत्री को भेजकर राज्य में एक गलत परंपरा की शुरुआत की जा रही है. उन्होंने पत्र में साफ लिखा है कि कार्मिक विभाग ने उन्हें बाइपास किया है और यह रूल ऑफ बिजनेस के खिलाफ है.

हरक सिंह रावत का कहना है कि राज्य के जंगलों में जहां-तहां आग लगी हुई है. ऐसे में फॉरेस्ट चीफ को विदेश भेजा जाना गलत है. उन्होंने फॉरेस्ट चीफ के पिछले विदेश दौरे पर भी प्रश्न खड़ा किया. उन्होंने पिछले साल श्रमायुक्त आनंद श्रीवास्तव को भी उनकी अनुमति के बिना विदेश दौरे पर भेजे जाने पर आपत्ति जताई.

बता दें कि लंदन की ज्यूलॉजिकल सोसाइटी ने वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (WII) के माध्यम से गत 2 अप्रैल को सीसीएफ कुमाऊं डॉ. विवेक पांडेय, सीएफ पराग मधुकर धकाते और डीएफओ तराई पूर्व नितीश मणि त्रिपाठी को बाघ पर चल रहे एक प्रोजेक्ट के तहत लंदन और पोलैंड आने का निमंत्रण दिया था. यानि इस निमंत्रण में फॉरेस्ट चीफ जयराज का नाम था ही नहीं. लेकिन बाद में 12 अप्रैल को एपीसीसीएफ डॉ. कपिल जोशी द्वारा डब्ल्यूआईआई के निदेशक को चिट्ठी लिखकर जयराज का नाम जुड़वाया गया.

ये वन अधिकारी नधौर में टाइगर संरक्षण मामले में टिप्स लेने विदेश गए हैं. लेकिन जयराज पर आरोप लगाया जा रहा है कि वह नधौर में टाइगर संरक्षण बनाने का विरोध करते रहे हैं. वह इस मामले में मुख्यमंत्री को पत्र भी लिख चुके हैं.

बता दें कि हरक सिंह की नाराजगी पर प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा है कि यदि मुख्यमंत्री फाइल सीधे अपने पास मंगवा कर कोई फैसला लेते हैं तो यह उनका अधिकार है. इस मामले में पार्टी के प्रवक्ता और वन पंचायत सलाहकार परिषद के चेयरमैन वीरेंद्र बिष्ट ने भी वन मंत्री की बातों से इत्तेफाक न रखते हुए अधिकारियों का बचाव किया है.

ये भी पढ़ें - सरकार में अपनी उपेक्षा से बेहद नाराज हैं वन मंत्री हरक सिंह रावत

ये भी देखें - VIDEO : अतिक्रमण हटाए जाने के दौरान व्यापारियों का दो गुट आपस में भिड़े
Loading...

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार