उम्‍मीदवारों के पैनल में खुद का नाम नहीं होने पर पूर्व पीसीसी चीफ ने जताई आपत्ति

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सत्ताधारी भाजपा ने जहां मतदान तक के अपने कार्यक्रम तय कर उन पर अमल करना शुरू कर दिया है, वहीं कांग्रेस अभी भी अंदरूनी लड़ाई, आपसी गुटबाजी से बाहर नहीं निकल पा रही है.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: February 11, 2019, 6:41 PM IST
उम्‍मीदवारों के पैनल में खुद का नाम नहीं होने पर पूर्व पीसीसी चीफ ने जताई आपत्ति
किशोर उपाध्याय, पूर्व अध्यक्ष, उत्तराखंड कांग्रेस
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: February 11, 2019, 6:41 PM IST
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सत्ताधारी भाजपा ने जहां मतदान तक के अपने कार्यक्रम तय कर उन पर अमल करना शुरू कर दिया है, वहीं कांग्रेस अभी भी अंदरूनी लड़ाई, आपसी गुटबाजी से बाहर नहीं निकल पा रही है. लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों के पैनल में जिलों से कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय और राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत का नाम न भेजे जाने पर स्वयं किशोर उपाध्याय ने प्रतिक्रिया दी है. किशोर उपाध्याय का कहना है कि वे खुद या हरीश रावत इस पैनल के मोहताज नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जो लोग ऐसा कर रहे हैं, वे कांग्रेस को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

किशोर उपाध्याय ने कहा कि जो लोग इस तरह का वातावरण बना रहे हैं वे कांग्रेस की सेवा नहीं कर रहे हैं बल्कि पार्टी को नुकसान पहुंचाने का काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हरीश रावत सीडब्लूसी के मेम्बर हैं और महामंत्री भी हैं. लेकिन उनका नाम नहीं भेजा गया.

उन्होंने खुद के बारे में कहा कि वे प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं. उत्तराखंड आंदोलन शुरू करवाने वाले लोगों में वे शामिल रह चुके हैं और प्रदेश में कांग्रेस को खड़ा करवाने में भी अहम भूमिक निभाई है. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों के पैनल में उनके नाम नहीं भेजे जाने से नाम भेजने वालों पर सौ सवाल खड़ें होंगे. उन्होंने कहा कि उनके नाम नहीं भेजे जाने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है.



ये भी पढ़ें - बीजेपी को जवाब देगी देवभूमि की जनता: प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह

ये भी पढ़ें - परिवर्तन यात्रा में मिला जनता का समर्थन, सभी 5 सीटों पर होगा कांग्रेस का कब्जा: प्रीतम सिंह

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...