नमो ऐप से जुटाया जा रहा है फंड, कांग्रेस ने कहा- जनता को ठग रही है बीजेपी

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: October 27, 2018, 10:31 AM IST
नमो ऐप से जुटाया जा रहा है फंड, कांग्रेस ने कहा- जनता को ठग रही है बीजेपी
देवेंद्र भसीन, प्रवक्ता, उत्तराखंड भाजपा

23 अक्टूबर को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस ऑनलाइन नमो ऐप के जरिए पार्टी फंड में हजार-हजार रुपए का डोनेशन जमा कराया. तब से आज तक लाखों लोग इस ऐप के जरिए भाजपा को चंदा दे चुके हैं.

  • Share this:
बदलते समय के साथ कैसे कदमताल किया जाता है इसे भाजपा अच्छी तरह जानती है. घर-घर जाकर पार्टी फंड में चंदा जमा करने का जमाना अब बीते समय की बात हो गई है. अब इंटरनेट का जमाना है. लिहाजा, भाजपा ने भी अपनी रणनीति बदल दी है. भाजपा अब नमो ऐप के जरिए ऑनलाइन चंदा जुटा रही है. चंदे की राशि भी पांच रुपए, पचास रुपए, सौ रुपए, पांच सौ रुपए और हजार रुपए रखी गई है.

बता दें कि 23 अक्टूबर को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस ऑनलाइन नमो ऐप के जरिए पार्टी फंड में हजार-हजार रुपए का डोनेशन जमा कराया. तब से आज तक लाखों लोग इस ऐप के जरिए भाजपा को चंदा दे चुके हैं. पार्टी उत्तराखंड में भी इस ऐप का जोर शोर से प्रचार-प्रसार कर रही है.

इस बारे में भाजपा के प्रवक्ता देवेंद्र भसीन का कहना है कि लोगों का छोटा सा योगदान भी भाजपा को शक्ति प्रदान करनेवाला होता है. उन्होंने कहा कि पारदर्शी राजनीति करने से काम करने में मदद मिलती है. डोनेशन की राशि बहुत छोटी है मगर इससे मदद तो मिलती ही है. बूंद-बूंद कर ही घड़ा भरता है. उन्होंने कहा कि अगर कोई पांच रुपए भी देता है तब हम उसका स्वागत करते हैं. डोनेशन देनेवाले ऐसे व्यक्ति का पार्टी के प्रति जो भावनात्मक लगाव प्रदर्शित होता है उसका भाजपा और अधिक सम्मान करती है.

दूसरी ओर संसाधनों के अभाव से जूझ रही कांग्रेस ने नमो एप को मुद्दा बना दिया है. कांग्रेस इसे जनता को ठगने वाला कदम करार दे रही है. कांग्रेस की प्रवक्ता गरिमा दशौनी ने कहा कि भाजपा रसातल में पहुंच गई है. पिछले तीस सालों से भाजपा राम मंदिर के नाम पर लोगों को ठगती रही है और अब यही काम नमो ऐप के जरिए किया जा रहा है. राम मंदिर के नाम पर चंदा लिया गया और फिर देश भर में भाजपा ने अपना पांच सितारा और सात सितारा कार्यालय खोल लिया. इतने पैसे बीजेपी के पास कहां से आए. ये सारे पैसे देश की गरीब जनता के हैं. उन्होंने जनता को एक नारा देने की बात कही - भाजपा के एक धोखा है, देश बचा लो मौका है.

राजनीति हो या संगठन बिना फंड के चल नहीं सकती. ये सच्चाई है. लेकिन वक्त के साथ कैसे तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है, यह कोई भाजपा से ही सीख सकता है. सियासत के मैदान में बीजेपी एक बार फिर कांग्रेस से बीस साबित हुई है.

ये भी पढ़ें - निकाय चुनाव: पार्टी के बागी नेता नामांकन वापस ले लेंगे: BJP

जशोदा राणा की याचिका डबल बेंच से भी खारिज, बीजेपी ने कृष्णा राणा को दिया समर्थन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 27, 2018, 10:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...