गरमाया गैरसैंणः कल गिरफ़्तारी देंगे हरीश रावत, CM बोले- जनहित में लिया फैसला

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि क्षेत्रीय जनता के लिए जमीन की खरीद बिक्री को ओपन किया गया है. उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों को जो दिक्कतें हो रही थी, वह दिक्कत अब दूर हो जाएगी.

News18 Uttarakhand
Updated: July 11, 2019, 10:53 PM IST
गरमाया गैरसैंणः कल गिरफ़्तारी देंगे हरीश रावत, CM बोले- जनहित में लिया फैसला
त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य़मंत्री, देहरादून
News18 Uttarakhand
Updated: July 11, 2019, 10:53 PM IST
गैरसैंण में ज़मीन की ख़रीद-फ़रोख़्त की इजाज़त देने के त्रिवेंद्र कैबिनेट के फ़ैसले से उत्तराखंड की राजनीति गरमा गई है. देहरादून और गैरसैंण समेत प्रदेश भर में राज्य आंदोलनकारी इस फ़ैसले का विरोध कर रहे हैं तो कांग्रेस ने भी इस मुद्दे को लपक लिया है. दिल्ली जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत रास्ते से लौट आए और शुक्रवार को गिरफ़्तारी देने के लिए गैरसैंण पहुंचने का ऐलान कर दिया. दिन भर इस मुद्दे पर राजनीतिक हलचल के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र को आखिर इस फ़ैसले पर सफ़ाई देनी पड़ी. उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों की मांग पर यह फ़ैसला लिया गया है.

सीएम की सफ़ाई


गैरसैंण में जमीनों की खरीद-फरोख्त पर रोक हटाने के मामले में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सफाई दी है. सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आस-पास के गांव के लोग काफ़ी समय से इसकी मांग कर रहे थे. लोग अपने लिए छोटा सा घर बनाना चाहते हैं और अपने बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए क्षेत्रीय जनता के लिए जमीन की खरीद-बिक्री को खोला गया है. उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों को जो दिक्कतें हो रही थी, वह अब दूर हो जाएंगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष की ओर से इसको लेकर जो सवाल उठाया जा रहा है वह ठीक नहीं है. सीएम ने कहा कि पूर्व सीएम हरीश रावत ने जितने भूमाफिया प्रदेश में खड़ा किए थे सभी भाग चुके हैं. उन्होंने कहा कि जब तक हम हैं तब तक किसी तरह के खतरे की कोई संभावना नहीं है.

पूर्व सीएम हरीश रावत देंगे गिरफ्तारी
वहीं रामनगर में पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि गैरसैंण में सरकार द्वारा जमीन की खरीद-फरोख्त पर लगी रोक हटाकर सरकार ने विध्वंसात्मक निर्णय लिया है. यह कदम गैरसैंण विरोधी है. इस पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को विचार करना चाहिए. इससे पहले भी सरकार ने उत्तर प्रदेश जमींदारी कानून को हटाकर गलत निर्णय लिया, जिससे अब कोई भी व्यक्ति यहां कितनी भी जमीन खरीद सकता है. इससे भूमि पर से सरकार का नियंत्रण समाप्त हो गया है. यह प्रदेश के हित में कहीं से भी नहीं है.

हरीश रावत, पूर्व सीएम, उत्तराखंड - Harish Rawat, Ex CM, Uttarakhand
हरीश रावत, पूर्व सीएम, उत्तराखंड

Loading...

हरीश रावत ने कहा कि गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित किये जाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन को सरकार ने कुचलने का प्रयास किया है. इन मुद्दों को लेकर शुक्रवार को पूर्व सीएम हरीश रावत सुबह 11 बजे गैरसैंण में अपनी गिरफ्तारी देंगे. उनके साथ प्रदेश कांग्रेस के कई बड़े नेता भी यहां गिरफ्तारी देने पहुंचेंगे. रावत ने बताया कि किशोर उपाध्याय, गोविन्द सिंह कुंजवाल और करन मेहरा के साथ ही कई कांग्रेसी नेता भी अपनी गिरफ्तारी देने पहुंचेंगे. हालांकि कल उनके साथ कौन-कौन गिरफ्तारी देगा यह अभी तय नहीं है.

(देहरादून से किशोर कुमार रावत के साथ रामनगर से गोविंद पाटनी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - हरीश रावत ने श्रीनगर हार के लिए धन सिंह को ज़िम्मेदार ठहराया

ये भी देखें - जमीन खरीद-फरोख्त मामले में राज्य आंदोलनकारियों का प्रदर्शन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...