लाइव टीवी

कथावाचक गोपाल मणि टिहरी से निर्दलीय उम्मीदवार, बढ़ेगी बीजेपी प्रत्याशी की मुश्किलें

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: March 22, 2019, 11:24 PM IST
कथावाचक गोपाल मणि टिहरी से निर्दलीय उम्मीदवार, बढ़ेगी बीजेपी प्रत्याशी की मुश्किलें
गोपाण मणि, कथावाचक, टिहरी संसदीय सीट से प्रत्याशी

टिहरी संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. इस सीट पर कथावाचक गोपाल मणि ने भी बतौर निर्देलीय प्रत्याशी नामांकन कर दिया है.

  • Share this:
टिहरी संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. इस सीट पर कथावाचक गोपाल मणि ने भी बतौर निर्देलीय प्रत्याशी नामांकन कर दिया है. गोपाल मणि मूल रूप से टिहरी संसदीय सीट के अंतर्गत उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़ के रहने वाले हैं. गोपाल मणि कथावाचक हैं. टिहरी, उत्तरकाशी और देहरादून में एक बड़ा वर्ग, खासकर महिला मतदाताओं में उनके अच्छी खासी संख्या में अनुयायी हैं. हिंदूवादी एजेंडे के तहत भाजपा जिस गाय और गंगा को लेकर समय-समय पर आवाज उठाती रही है, गोपाल मणि उसी गाय को कथाओं के केंद्र में रखते रहे हैं. ऐसे में इस सीट पर बीजेपी के लिए चुनाव जीत पाना आसान नहीं होगा.

गोपाल मणि लंबे समय से गाय को राष्ट्र माता घोषित करने की मांग को लेकर आंदोलनरत रहे हैं. गोपाल मणि का आरोप है कि राज्य सरकार ने जरूर इस संबंध में एक संकल्प प्रस्ताव पारित कर केंद्र को भेजा, लेकिन केंद्र ने इसे कोई तवज्जो नहीं दी. गोपाल मणि भाजपा के उस मतदाता को प्रभावित कर सकते हैं, जिसे भाजपा समझती है कि धर्म और संस्कृति के नाम पर गोलबंद किया जा सकता था.

बता दें कि गोपाल मणि को पूर्व में यमुनोत्री से और वर्तमान में धनोल्टी से विधायक प्रीतम पंवार का भी समर्थन प्राप्त है. पंवार गोपाल मणि के प्रस्तावक भी हैं.

ये भी देखें - लोकसभा चुनाव 2019 : युवाओं के बीच बेरोजगारी बना बड़ा मुद्दा

ये भी पढ़ें - लोकसभा चुनाव 2019 : युवाओं के बीच बेरोजगारी बना बड़ा मुद्दा

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2019, 11:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...