सरकार का तोहफा, बेरोजगार नौजवानों के लिए राज्य में होमगार्ड की नौकरी के अवसर बढ़े

स्थापना दिवस के मौके देहरादून के रायपुर स्थित होमगार्ड के मुख्यालय में भव्य परेड का आयोजन हुआ.

स्थापना दिवस के मौके देहरादून के रायपुर स्थित होमगार्ड के मुख्यालय में भव्य परेड का आयोजन हुआ.

सरकार ने होमगार्ड में भर्ती के लिए स्ट्रक्चर में परिवर्तन किया है. राज्य में अब होमगार्ड की संख्या 6500 से बढ़ाकर 10 हजार कर दी गई है. साथ ही होमगार्ड निदेशालय में समूह ग के पदों पर होमगार्ड्स को 25 प्रतिशत आरक्षण भी दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 8:11 PM IST
  • Share this:
देहरादून. उत्‍तराखंड (Uttarakhand) में बेरोजगार युवाओं के लिए सरकार ने एक बड़ी पहल की गई है. सरकार ने होमगार्ड में भर्ती के लिए स्ट्रक्चर में परिवर्तन किया है. राज्य में अब होमगार्ड की संख्या 6500 से बढ़ाकर 10 हजार कर दी गई है. साथ ही होमगार्ड निदेशालय में समूह ग के पदों पर होमगार्ड्स को 25 प्रतिशत आरक्षण भी दिया जाएगा. ये बातें कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल (Subodh Uniyal) ने कहीं.

होमगार्ड के स्थापना दिवस के मौके देहरादून के रायपुर स्थित होमगार्ड के मुख्यालय में भव्य परेड का आयोजन किया गया. इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कृषि मंत्री सुबोध उनियाल मौजूद थे. पूरे आयोजन में कोरोना के गाइडलाइन्स का पालन किया गया. इस मौके पर मंत्री सुबोध उनियाल ने रैतिक परेड की सलामी ली.

होमगार्ड की स्थापना दिवस के मौके पर रविवार को रैतिक परेड का आयोजन होमगार्ड मुख्यालय में किया गया. जिसमें कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने परेड का निरीक्षण करते हुए परेड की सलामी ली. वहीं, राज्य के बेरोजगार युवाओं के लिए अब होमगार्ड में भर्ती के लिए सरकार ने स्ट्रैक्चर में भी परिवर्तन किया है. राज्य में अब होमगार्ड की संख्या 6500 से बढ़ाकर अब 10 हजार कर दी गई है. जिससे युवाओं को रोजगार मिलेगा. साथ ही होमगार्ड निदेशालय में समूह ग के पदों पर होमगार्ड्स को 25 प्रतिशत आरक्षण भी दिया जाएगा. कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि राज्य में होमगार्डस को सशक्त करने के लिए सरकार की ओर से बेहतर योजनाएं बनाई जा रही हैं, जिससे राज्य में तैनात होमगार्डस राज्य की सेवा कर सकेंगे.

नागरिक सुरक्षा स्थापना दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की तीन बड़ी घोषणाओं को कमांडेंट जनरल आईजी पुष्पक ज्योति ने पढ़ा. उन्होंने कहा कि इस से होमगार्ड का सशक्तीकरण होगा. साथ ही उनमें और कार्य करने का मनोबल बढे़गा और राज्य में तैनात होमगार्ड राज्य की और सेवा कर पाएंगे. वहीं घोषणाओं के बाद उत्तराखण्ड के होमगार्ड में खुशी का माहौल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज