पर्वतीय क्षेत्रों में एचपी कंपनी के साथ मिलकर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाएगी सरकार

उत्तराखंड में पर्वतीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने के लिए राज्य की त्रिवेंद्र सरकार ने एक कदम आगे बढ़ाया है. उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग एचपी कंपनी के एक एमओयू साइन करने जा रहा है. जिसके तहत एचपी कंपनी अपने सीएसआर फंड के तहत राज्य में चार अलग-अलग दूरुस्थ स्थानों में टेली मेडिसन सेंटर खोलेगी.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 6, 2017, 7:10 AM IST
पर्वतीय क्षेत्रों में एचपी कंपनी के साथ मिलकर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाएगी सरकार
सीएसआर फंड के तहत चार टेली मेडिसिन सेंटर स्थापित करेगी एचपी: स्वास्थ्य सचिव.
ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 6, 2017, 7:10 AM IST
उत्तराखंड में पर्वतीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने के लिए राज्य की त्रिवेंद्र सरकार ने एक कदम आगे बढ़ाया है. उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग एचपी कंपनी के एक एमओयू साइन करने जा रहा है. जिसके तहत एचपी कंपनी अपने सीएसआर फंड के तहत राज्य में चार अलग-अलग दूरुस्थ स्थानों में  टेली मेडिसिन सेंटर खोलेगी.

उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग के सचिव नितेश झा ने बताया कि प्रदेश के दुरस्थ पर्वतीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने यह एमओयू एचपी कंपनी के साथ साइन करने जा रही है.

स्वास्थ्य सचिवा नितेश झा ने बताया कि टेली मेडिसिन सेंटर में ही प्राथमिक जांच कराई जा सकेगी, इसके लिए श्रीनगर चिकित्सालय में स्टूडियो भी बनाया जाएगा. जिससे इन टेली मेडिसिन सेंटरों को जोड़ा जाएगा. राज्य सरकार की कोशिश है कि इन टेली मेडिसिन सेंटर के जरिए ज्यादा से ज्यादा रोगियों को स्वास्थ्य लाभ दिया जा सके.

नितेश झा ने बताया कि इससे ग्रामीण पर्वतीय क्षेत्रों के लोगों को कापी सहूलियत होगी. उन्होंने कहा कि टैक्नोलॉजी के प्रयोग हो रोगियों और विशेषज्ञ डॉक्टरों के बीच गैप को कम किया जा सकेगा. दुरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टर्स की कमी चलते ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. टेली मेडिसिन के जरिए पर्वतीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर किया जा सकता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर