अपना शहर चुनें

States

चार धाम यात्रा में फर्जी तरीके से बन रहे ग्रीन कार्ड, सीज की गईं डग्गामार बसें

चार धाम यात्रा में फर्जी तरीके से बन रहे ग्रीन कार्ड, सीज की गईं डग्गामार बसें
चार धाम यात्रा में फर्जी तरीके से बन रहे ग्रीन कार्ड, सीज की गईं डग्गामार बसें

यात्रियों के साथ ठगी कर ट्रैवल एजेंट हरिद्वार से फर्जी तरीके से बसों में यात्रियों को भरकर परिवहन नियमों को ताक पर रखकर ग्रीन कार्ड बनवा रहे हैं. इसका खामियाजा यहां यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है.

  • Share this:
चार धाम यात्रा में जाने वाली बसों में परिवहन विभाग की मिलीभगत से किस तरह फर्जी तरीके से ग्रीन कार्ड (स्थायी निवासी कार्ड) बनवाए जा रहे हैं, इसका खुलासा न्यूज़18 ने 2 दिन पहले किया था. ऋषिकेश में ऐसी ही दो बसों को संयुक्त रोटेशन समिति ने पकड़कर परिवहन विभाग को सौंपा है, जिसे विभाग ने सीज कर दिया है. चार धाम यात्रा कपाट खुलने के साथ ही बड़ी तेजी के साथ चल रही है. देश के कोने-कोने से तीर्थ यात्री चार धाम के दर्शन के लिए उत्तराखंड पहुंच रहे हैं.

लिहाजा, ऐसे में यात्रियों के साथ ठगी कर ट्रैवल एजेंट हरिद्वार से फर्जी तरीके से बसों में यात्रियों को भरकर परिवहन नियमों को ताक पर रखकर ग्रीन कार्ड बनवा रहे हैं. इसका खामियाजा यहां यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है.

चार धाम यात्रा पर उत्तराखंड आई छत्तीसगढ़ के 22 यात्रियों को हरिद्वार के ट्रैवल एजेंट द्वारा फर्जी तरीके से ग्रीन कार्ड बनाकर चार धाम यात्रा पर भेजा जा रहा था, जिस पर संयुक्त रोटेशन समिति की नजर पड़ी और गाड़ी को पकड़कर परिवहन विभाग से डग्गामार बस को सीज कराया.



परिवहन अधिकारी पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि गाड़ी के कागजातों में ग्रीन कार्ड प्रक्रिया का पूरा उल्लंघन किया गया है. इसमें न होलोग्राम है और ना ही यात्रियों का वेरिफिकेशन जो नियम के विरुद्ध है.
बहरहाल, देश के कोने-कोने से तीर्थ यात्री ऑनलाइन बुकिंग के जरिए ट्रैवल एजेंटों से गाड़ी बुक कराते हैं और यह एजेंट फर्जी तरीके से गाड़ी के कागजात तैयार करवाकर यात्रा में मुनाफा कमाते हैं. डग्गामार बसों का यह अवैध खेल विभाग की मिलिभगत से चल रहा है, जिस पर रोक लगाने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें:- बहुत कठिन है डगर पिंडारी की... भारी बर्फ़बारी से रास्ते बंद

ये भी पढ़ें:- उत्तराखंड में बदला मौसम का मिज़ाज, बादल छाए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज