Lockdown: हरिद्वार पहुंचे 170 प्रवासियों को प्रशासन ने वेडिंग प्वाइंट में किया 'लॉक'
Dehradun News in Hindi

Lockdown: हरिद्वार पहुंचे 170 प्रवासियों को प्रशासन ने वेडिंग प्वाइंट में किया 'लॉक'
हरिद्वार के वेडिंग पॉएंट में बाहर से आए प्रवासियों को भेड़-बकरियों की तरह बंद कर ताला लगा दिया गया. बाद में प्रशासन ने इसे मिस कम्युनिकेशन बताया.

जिस वेडिंग प्वाइंट में लाकर प्रवासियों को लाया गया वो केवल 70 लोगों की क्षमता वाला था, वहां 170 लोगों को लाकर रख दिया गया. इन लोगों के लिए वहां सिर्फ दो बाथरूम थे, एक महिलाओं के लिए और एक पुरुषों के लिए.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
देहरादून. बुधवार को दिल्ली (Delhi) से 170 प्रवासियों को लेकर उत्तराखंड (Uttarakhand) के हरिद्वार पहुंची सात बसों के यात्रियों को प्रशासन ने लक्सर के एक वेडिंग प्वाइंट में ठहराकर गेट पर ताला लगा दिया. वेडिंग प्वाइंट के अंदर सुविधा के नाम पर फर्श पर केवल मैट बिछी हुई थी. इसके अलावा कुछ नहीं था. न यहां पीने का पानी का इंतजाम है और न ही कुछ और. प्रशासन ने रात के खाने के नाम पर प्रवासियों को पुड़ी की थैलियां और सब्जी पकड़ाकर अपना दायित्व पूरा कर लिया. छोटे बच्चों को दूध तक नहीं मिल पाया. बताया गया कि वेडिंग प्वाइंट केवल 70 लोगों की क्षमता वाला था और वहां 170 लोगों को लाकर ठूंस दिया गया. इन लोगों के लिए वहां सिर्फ दो बाथरूम थे, एक महिलाओं के लिए और एक पुरुषों के लिए.

वीडियो शेयर कर कहा अपना दर्द 

गुरुवार सुबह तक भी इन लोगों को चाय तो दूर पीने का पानी तक नसीब नहीं था. वेडिंग प्वाइंट में लॉक इन लोगों की जब किसी ने नहीं सुनी तो इन्होंने अपनी आपबीती बताते हुए वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर डाला. क्वारंटाइन सेंटर की बदहाली को दिखाता वीडियो जब वायरल होने लगा तो तब जाकर सुबह नौ बजे के आसपास प्रशासन एक्टिव हुआ. स्थानीय प्रशासन का कहना है कि 'मिसकम्युनिकेशन' के चलते ऐसा हो गया. 70 व्यक्तियों की क्षमता के विपरीत यहां 170 लोग आ गए. लेकिन क्या 70 लोगों को पानी, खाना, शौचालय, सफाई, बैठने-सोने की जरूरत नहीं थी? इसका कोई जवाब हरिद्वार प्रशासन ने नहीं दिया.



बदहाली के गवाह 



उत्तराखंड में क्वारंटाइन सेंटरों की बदहाली का मुद्दा हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है. हाईकोर्ट ने बाकायदा जिला विधिक प्राधिकरणों के सचिवों को क्वारंटाइन सेंटरों का निरीक्षण कर तीन दिन में रिपोर्ट सौंपने को कहा है. इधर हाईकोर्ट के दबाव के बाद सरकार ने भी जिलों में एडीएम को प्रभारी अधिकारी नियुक्त कर व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं. लेकिन, ताजा घटना ने एक बार फिर बदहाली की तस्वीर सामने ला दी है.

राज्य में क्वारंटाइन सेंटरों में अभी तक पांच मौतें हो चुकी हैं. नैनीताल के बेतालघाट स्थित एक क्वारंटाइन सेंटर में फर्श पर सोई बच्ची को सांप ने डस दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. वहीं ऊधमसिंह नगर के एक क्वारंटाइन सेंटर में सिपाही ने एक महिला से रेप करने की कोशिश की. पौड़ी जनपद में क्वारंटाइन सेंटरों में तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि पिथौरागढ़ में एक शख्स की मौत हुई है.

ये भी देखें: 

OMG: क्वारंटाइन सेंटर्स में दारू-मुर्गा मांग रहे लोग, डिमांग पूरी न करने पर प्रधानों को धमकी 
First published: May 28, 2020, 6:17 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading