Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड चुनावः कांग्रेस में आना चाहते हैं BJP के कई नेता- हरीश रावत; पूर्व CM ने हरक सिंह को दी माफी!

उत्तराखंड चुनावः कांग्रेस में आना चाहते हैं BJP के कई नेता- हरीश रावत; पूर्व CM ने हरक सिंह को दी माफी!

अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में हैं हरीश रावत.

अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में हैं हरीश रावत.

Politics of Uttarakhand : उत्तराखंड की राजनीति में दलबदल का तूफान उठ रहा है. पहले भाजपा ने एक कांग्रेस विधायक को तोड़ा और उसके बाद कांग्रेस ने यशपाल आर्य को उनके विधायक बेटे समेत लपका. कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल हों या उत्तराखंड में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस नेता साफ कह चुके हैं कि कई बीजेपी नेता कांग्रेस के संपर्क में है और पार्टी जॉइन करना चाहते हैं. इधर, हरक सिंह रावत को लेकर बीजेपी परेशान है और अटकलें जारी हैं, ऐसे में हरीश रावत के बयान कितने अहम हैं, जानिए पूरा ब्योरा.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड चुनाव 2022 की सुगबुगाहटों के तेज़ होते ही दलबदल का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस नेता दावे कर रहे हैं कि भाजपा के कई और नेता टूट सकते हैं. पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि कई लोग कांग्रेस में आना चाहते हैं क्योंकि उत्तराखंड में भाजपा ऐसी पार्टी है, जहां स्थिरता नहीं है. रावत नेयह भी दोहराया कि कांग्रेस में केवल उन्हीं को एंट्री मिलेगी, जो कांग्रेस के लिए फायदेमंद होंगे. इधर, उनका हरक सिंह रावत को माफ कर देने संबंधी बयान भी सुर्खियों में बना रहा.

    हाल ही में पंजाब के प्रभार से छुटकारा मिलने के बाद पूरी तरह से उत्तराखंड चुनाव पर फोकस कर रहे हरीश रावत ने कहा, ‘जिन्होंने पार्टी छोड़ी थी, वही नहीं, बल्कि बीजेपी के और भी नेता कांग्रेस में आना चाहते हैं. यह बीजेपी की अस्थिरता को साफ दर्शाता है. बहुत से लोग आना चाहते हैं लेकिन कांग्रेस बहुतों को तो जगह नहीं देगी, उन्हीं को शामिल करेगी, जो पार्टी के लिए उपयोगी हों.’ इस बयान के अलावा रावत ने और भी महत्वपूर्ण बातें कहीं.

    ‘दिसंबर से दिए जाएंगे टिकट’

    रावत के बयान के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने जो रिपोर्ट दी, उसके मुताबिक उत्तराखंड चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी दिसंबर महीने से टिकट दिए जाने की घोषणाएं करेगी. दिसंबर में ही पार्टी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की जाएगी.

    ‘भाजपा कर रही है श्रेय छीनने की राजनीति’

    हरीश रावत ने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि श्रेय छीनने की राजनीति की जा रही है. रावत के मुताबिक केदारनाथ में तमाम विकास और पुनर्निर्माण कार्य उनके कार्यकाल में ही शुरू हुए थे, जिन पर बीजेपी क्रेडिट लेने की कोशिश कर रही है.

    क्या हरक सिंह रावत को दे दी माफी?

    हरीश रावत का एक और वाक्य मीडिया व सोशल मीडिया की चर्चाओं में है जिसमें कहा गया कि हरीश रावत ने हरक सिंह रावत को माफ कर दिया. खबरों की मानें तो हरीश रावत ने हरक सिंह रावत से फोन पर बातचीत करते हुए कहा कि ‘आपदा में तो सांप और नेवला भी साथ हो जाते हैं, तो हम क्यों नहीं हो सकते!’ इसके बाद से माना जा रहा है कि हरक सिंह को लेकर हरीश रावत के तेवर नर्म हो गए हैं और एक तरह से यह हरक सिंह की कांग्रेस में वापसी का स्पष्ट संकेत है.

    इससे पहले हरीश रावत ने कहा था कि 2017 में उनकी सरकार गिराने में जो नेता ज़िम्मेदार रहे, उन्हें माफी मांगने पर ही कांग्रेस में दोबारा शामिल किया जाएगा. इस बयान के बाद हाल में, हरक सिंह रावत ने हरीश रावत को बड़ा भाई कहते हुए माफी मांगी थी और कहा था, ‘मैं उनके चरणों में नतमस्तक हूं’.

    Tags: Harish rawat, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर