• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • उत्‍तराखंड में कांग्रेस को उम्‍मीद, हरिद्वार-नैनीताल में मिलेगा बसपा का साथ

उत्‍तराखंड में कांग्रेस को उम्‍मीद, हरिद्वार-नैनीताल में मिलेगा बसपा का साथ

हरीश रावत, पूर्व सीएम

हरीश रावत, पूर्व सीएम

हरिद्वार के पूर्व सांसद और दोबारा यहां से चुनाव लड़ना चाह रहे हरीश रावत बसपा पर अभी भी सॉफ्ट हैं. इसकी एक बड़ी वजह यह है कि हरिद्वार संसदीय सीट पर करीब 3 लाख मुस्लिम और सवा दो लाख दलित वोट हैं.

  • Share this:
    पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के गठबंधन के बाद उत्तराखंड में कांग्रेस की सांसें अटक गई हैं. उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में बसपा का वोट बैंक है, खासकर हरिद्वार संसदीय क्षेत्र में बसपा के समर्थक अच्छी खासी संख्या में हैं. कांग्रेस को उम्मीद थी कि शायद बसपा का साथ उसे हरिद्वार में मिल जाएगा. यहां से चुनाव लड़ने की सोच रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अब कहते हैं कि चिंता की कोई बात नहीं है, दलित इस बार कांग्रेस के साथ आएगा.

    उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के साथ आने से उत्तराखंड में भी सुगबुगाहट है. यूपी से इतर उत्तराखंड में समाजवादी पार्टी केवल कुछ पॉकेट्स तक ही सीमित है, जबकि बसपा दो जिलों हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में मजबूत है. 2017 के विधानसभा चुनाव में जरूर बसपा का वोट प्रतिशत लुढ़क गया था, पर इससे पूर्व के चुनावों में बसपा को औसतन 15 फीसदी वोट पड़ा है. यूपी में अलायन्स के बाद दोनों पार्टियों के नेता कह रहे हैं कि वो उत्तराखंड में भी गठबंधन चाहते हैं, पर अंतिम निर्णय आला नेताओं को करना है.

    सपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एसएस सचान ने कहा कि हमने अपनी रिपोर्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष को भेज दी है. इस संबंध में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती जो भी निर्णय लेंगी, उसका अनुपालन यहां समाजवादी पार्टी से जुड़े लोग करेंगे. वहीं बीएसपी के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप बालियान ने कहा कि यह हमारी नेता का फैसला होगा. हमारी नेता जो चाहेंगी, वही होगा.

    दरअसल उत्तराखंड में बसपा का साथ मिलने की उम्मीद कांग्रेस कर रही थी. हरिद्वार के पूर्व सांसद और दोबारा यहां से चुनाव लड़ना चाह रहे हरीश रावत बसपा पर अभी भी सॉफ्ट हैं. इसकी एक बड़ी वजह यह है कि हरिद्वार संसदीय सीट पर करीब 3 लाख मुस्लिम और सवा दो लाख दलित वोट हैं. हरीश रावत कहते हैं कि अब मामला अलग है. उत्तराखंड में दलित कांग्रेस के साथ ही आएंगे.

    हालांकि कांग्रेस के सूत्र कहते हैं कि पार्टी ने उम्मीद नहीं छोड़ी है. यूपी में जो भी हो, उत्तराखंड में बसपा का साथ कम से कम हरिद्वार और नैनीताल लोकसभा सीट पर कांग्रेस को मिलेगा.

    (मनोज जुयाल और किशोर रावत के साथ  अनुपम त्रिवेदी, देहरादून)


    ये भी पढ़ें - सपा-बसपा BJP का विकल्प नहीं, यूपी में कांग्रेस को मिलेंगी 25 सीटें : हरीश रावत

    ये भी देखें - VIDEO: यहां प्रशासन ने पहल नहीं की तो ग्रामीण खुद बनाने लगे सड़क

    Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज