लाइव टीवी

अब टी बाग़ान की ज़मीन पर हरीश रावत, राज्य सरकार आमने-सामने... एक-दूसरे को कही ये बातें

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: July 10, 2019, 4:41 PM IST
अब टी बाग़ान की ज़मीन पर हरीश रावत, राज्य सरकार आमने-सामने... एक-दूसरे को कही ये बातें
ईस्ट होप टाउन कंपनी के चाय बागान की ज़मीन का लैंड यूज़ चेंज करने पर हरीश रावत के ट्वीट का भाजपा प्रवक्ता वीरेंद्र बिष्ट ने जवाब दिया.

ये ज़मीन चाय बागान की अपेक्षा रियल स्टेट कारोबार के ज़रिए अरबों रुपये मुनाफ़े का सौदा साबित हो सकती है.

  • Share this:
ईस्ट होप टाउन कंपनी के चाय बागान की हजारों बीघा जमीन का लैंड यूज बदलने के मामले में नया मोड़ आ गया है. न्यूज़ 18 ने दिखाया था कि किस तरह ईस्ट होप टाउन की साढ़े चार हज़ार बीघा ज़मीन का लैंड यूज़ गुपचुप ढंग से बदलने की तैयारी चल रही है. दरअसल ये ज़मीन चाय बागान की अपेक्षा रियल स्टेट कारोबार के ज़रिए अरबों रुपये मुनाफ़े का सौदा साबित हो सकती है. इसीलिए चाहे पिछली सरकारें रही हों या वर्तमान, सबकी नज़र चाय बागान की इस ज़मीन पर है.

हरीश रावत की सफ़ाई 

NEWS 18 पर प्रमुखता से खबर दिखाए जाने के बाद पूर्व सीएम हरीश रावत ने ट्वीट कर कहा कि वर्तमान सरकार लैंड पुलिंग के जरिए चाय बागानों की बेशकीमती ज़मीन बिल्डरों के हवाले करना चाहती  है. हरीश रावत ने खुद पर चाय बगानों की ज़मीन खुर्द-बुर्द करने के प्रयासों के आरोपों पर भी सफ़ाई दी.

आप ने पीएम मोदी को भेजा वीडियो, कहा- चाय बागान को बचा लीजिए!

रावत ने कहा कि उन्होंने 36 काउंटर मैग्नेटिक सिटीज़ हर ज़िले में बनाने का निर्णय लिया था और इसी कड़ी में मैंने ईस्ट होप टाउन और दून टी स्टेट लिमिटेड के चाय बागानों की ज़मीन से आशा की थी कि इसमें स्मार्ट सिटी बनाएंगे. इससे जो पैसा आएगा उससे काउंटर मैग्नेटिक सिटीज़ के विकास में लगाया जाएगा ताकि पहाड़ों से पलायन रुक सके.

पूर्व मुख्यमंत्रीने कहा कि लेकिन तब लोगों ने इतने आरोप लगाए कि इस विचार को ही ड्रॉप कर दिया गया. अब वर्तमान सरकार लैंड पुलिंग के ज़रिए इस जमीन को भू-माफ़ियाओं के हवाले करना चाहती है. हरीश रावत ने तंज़ कसा, ‘कि अंदाज बुरा नहीं है... दुल्हन वही जो पिया मन भावे’.

बीजेपी का दावा 
Loading...

भाजपा प्रवक्ता वीरेंद्र बिष्ट ने कहा कि हरीश रावत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण कहा कि हरीश रावत राज्य के विकास की योजनाओं में रोड़ा अटका रहे हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी वही करेगी जो राज्य के हित में होगा.

देहरादून में लटक सकती स्मार्ट सिटी परियोजना, प्रस्ताव के खिलाफ प्रधानमंत्री से शिकायत

दरअसल टी प्लांटेशन एक्ट के तहत चाय बागानों की ज़मीनों का लैँड यूज चेंज नहीं हो सकता. इसके बावजूद ईस्ट होप टाउन की चाय बागान की करीब साढ़े चार हज़ार बीघा  ज़मीन का लैंड यूज बदलने का प्रस्ताव बाकायदा कंपनी की ओर से सरकार को भेजा गया है. कोई रोड़ा न अटके इसके लिए प्रस्ताव में 65 फ़ीसदी जमीन सरकार को देने की बात कही गई है बाकी  ज़मीन कंपनी की होगी.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 10, 2019, 4:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...