Home /News /uttarakhand /

कोविड प्रोटोकॉल पर चीफ सेक्रेट्री के आदेश पर भड़के धनसिंह रावत, टेस्टिंग को लेकर दिया उलट बयान

कोविड प्रोटोकॉल पर चीफ सेक्रेट्री के आदेश पर भड़के धनसिंह रावत, टेस्टिंग को लेकर दिया उलट बयान

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री धनसिंह रावत.

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री धनसिंह रावत.

Uttarakhand News : हाल में उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) ने दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की बाध्यता खत्म करते हुए ऐलान किया था कि कोविड कर्फ्यू (Corona Curfew) के तहत लगाए गए तमाम प्रतिबंध नहीं रहेंगे. सरकार ने सिर्फ Covid-19 से बचाव के उपाय अपनाए जाने की बात कही थी. इसी सिलसिले में सरकार के शीर्षस्थ अधिकारी (Top Bureaucrat) ने टेस्टिंग बंद करने संबंधी एक आदेश जारी किया तो मंत्री जी ने फौरन इसे रद्द करते हुए अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड की नौकरशाही और कैबिनेट मंत्री के बीच खींचतान की स्थिति तब बन गई जब राज्य के स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने मुख्य सचिव के एक आदेश को सरकारी फैसले के खिलाफ बताया. रावत ने मंगलवार को कहा कि राज्य भर में कोविड प्रोटोकॉल के तहत राज्य के बॉर्डर क्षेत्रों में चल रहे कोरोना टेस्टिंग बूथों को हटाया जाना है कि नहीं, इस पर सरकार अभी दोबारा विचार करेगी और तब तक ये बूथ जैसे हैं, वैसे ही रहेंगे. वास्तव में, पिछले दिनों उत्तराखंड सरकार ने कोविड संबंधी तमाम प्रतिबंध हटाकर उत्तराखंड आने वाले लोगों को बड़ी राहत दी थी, उसके बाद एक प्रशासनिक आदेश को लेकर हंगामा खड़ा हुआ.

    मुख्य सचिव ने एक आदेश जारी करते हुए कहा था कि अन्य राज्य से जुड़ने वाली सीमाओं और रेलवे स्टेशनों पर पर्यटकों की कोरोना संक्रमण जांच के लिए जो टेस्टिंग बूथ लगे हैं, उन्हें बंद कर दिया जाए. लेकिन, जैसे ही यह आदेश चर्चा और सुर्खियों में आया, तो धन सिंह रावत ने बयान देने सामने आए. एक खबर के मुताबिक इस स्थिति पर रावत ने कहा कि मुख्य सचिव का यह आदेश सरकारी फैसला नहीं है और अभी बूथ नहीं हटाए जाएंगे. रावत ने सभी से प्रोटोकॉल का पालन का पालन करने की अपील करते हुए कहा कि अभी सतर्कता बरतने की ज़रूरत बनी हुई है इसलिए सरकार बूथों को लेकर पुनर्विचार करेगी.

    मुख्य सचिव पर कैसे बिगड़े रावत?
    रावत ने साफ तौर पर कहा, ‘अभी कुछ राज्यों में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं इसलिए कोविड 19 की टेस्टिंग में फिलहाल कोई कमी नहीं की जाएगी. तमाम पहलुओं का ध्यान रखते हुए राज्य सरकार अपना फैसला लेगी.’ मुख्य सचिव के आदेश के बारे में उन्होंने कहा, ‘बॉर्डर इलाकों में टेस्टिंग रोकने का फैसला सरकार का नहीं है. अगर मुख्य सचिव ने ऐसे आदेश दिए हैं तो उनसे बात की जाएगी और कैबिनेट में इस पर चर्चा की जाएगी.’

    uttarakhand govt, dhan singh rawat bayan, uttarakhand minister, corona in uttarakhand, covid in uttarakhand, उत्तराखंड सरकार, उत्तराखंड के मंत्री, उत्तराखंड में कोरोना, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, Uttarakhand Latest news, उत्तराखंड ताजा समाचार

    उत्तराखंड की सीमाओं पर टेस्टिंग बूथों को लेकर मंत्री और मुख्य सचिव ने विरोधाभासी बयान.

    कैबिनेट में दो खास फैसलों पर मुहर
    रावत ने जब यह बयान दिया तो मंगलवार शाम सचिवालय में कैबिनेट की बैठक होनी थी, लेकिन इस बारे में कोई फैसला या बयान बैठक के बाद सामने नहीं आया. हालांकि चिकित्सा विभाग से जुड़े दो अहम फैसलों पर मुहर ज़रूर लगी. विभाग में ओटी, तकनीशियन, डॉक्टर, डेंटिस्ट पदों पर भर्ती के लिए दो साल के अनुभव की अनिवार्यता अब नहीं होगी. दूसरा फैसला यह रहा कि मेडिकल की फीस सालाना चार लाख से 1.45 लाख करने का लाभ इसी साल से मिलेगा.

    Tags: Covid Protocol, Dhan singh rawat, Uttarakhand Government, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर