Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Snowfall Death Toll : अब तक 13 ट्रेकरों-पोर्टरों की मौत, पिंडारी ग्लेशियर पर 4 शव मिले, उत्तरकाशी में 9

Uttarakhand Snowfall Death Toll : अब तक 13 ट्रेकरों-पोर्टरों की मौत, पिंडारी ग्लेशियर पर 4 शव मिले, उत्तरकाशी में 9

नौ ट्रेकरों और तीन पोर्टरों के शव अब तक बरामद किए जा चुके हैं.

नौ ट्रेकरों और तीन पोर्टरों के शव अब तक बरामद किए जा चुके हैं.

Uttarakhand Big Accident : उत्तराखंड के उत्तरकाशी और बागेश्वर में अलग अलग दलों के हिस्से के रूप में ट्रेकिंग और पैट्रोलिंग के लिए गए लोगों में से अब तक 13 की मौत की खबर आ चुकी है. 3 पोर्टरों के शव बरामद किए गए थे, अब और भी शव स्पॉट हुए हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्रों में तीन अलग-अलग हादसों में कम से कम 10 ट्रेकरों और 3 पोर्टरों की मौत हो गई. एसडीआरएफ रेस्क्यू टीम ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल के 5 ट्रेकरों के शव स्पॉट किए, जबकि एक ट्रेकर को एयरलिफ्ट कर रेस्क्यू किया गया और आर्मी अस्पताल पहुंचाया गया. बागेश्वर में पिंडारी ग्लेशियर से ट्रेकिंग करने वाले 34 सदस्यीय समूह के 4 लोग मारे गए, जो बर्फबारी की चपेट में आ गए थे. हालांकि इस टीम के बाकी सभी सदस्य सुरक्षित बताए गए हैं. दूसरी तरफ, आईटीबीपी पेट्रोलिंग पार्टी के साथ 17 अक्टूबर को गए 3 लापता पोर्टरों के शव बरामद किए जा चुके हैं. कुल मिलाकर हिमालयी बर्फबारी में अब तक 13 मौतों की खबर है.

पहला हादसा : ट्रेकरों की तलाश जारी

एसडीआरएफ के डीआईजी रिधिम अग्रवाल ने बताया कि 14 अक्टूबर को उत्तराखंड के ​हर्षिल से हिमाचल प्रदेश के लिए 11 सदस्यों का एक ट्रेकिंग दल रवाना हुआ था, जिसमें 8 ट्रेकर, 1 रसोइया और 2 गाइड थे. यह पूरा दल 17 अक्टूबर को बर्फबारी और खराब मौसम के चलते संपर्क से कट गया था. उन्होंने बताया कि समुद्र तल से 20,000 फीट की ऊंचाई पर हुए इस हादसे में ज़िंदा बचे लोगों की तलाश की जा रही है.

दूसरा हादसा : आईटीबीपी टीम के पोर्टर मारे गए

इससे पहले न्यूज़18 ने आपको बताया था कि आईटीबीपी की एक पेट्रोलिंग टीम के साथ गए और लापता हो गए 3 पोर्टरों के शव बरामद किए गए थे. दरअसल अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे नीलापानी में आईटीबीपी की पोस्ट से एक टुकड़ी पेट्रोलिंग पर निकली थी. भीषण बर्फबारी में आईटीबीपी के जवान तो किसी तरह खुद को बचाने में कामयाब हो गए, लेकिन 3 पोर्टर बर्फ में दबकर मारे गए. सर्च अभियान में तीनों के शव तीन दिन बाद बरामद कर लिए गए.

uttarakhand news,  uttarakhand snowfall, heavy snowfall, missing trekkers, trekkers death, उत्तराखंड ताजा समाचार, उत्तराखंड में बर्फबारी, ट्रेकरों की मौत

रेस्क्यू टीमों ने बर्फबारी में फंसे ट्रेकर को आर्मी अस्पताल पहुंचाया.

तीसरा हादसा : पिंडारी ग्लेशियर में बनी कब्र

एक अन्य हादसे में बागेश्वर ज़िले में 24 देसी ट्रेकरों और 6 विदेशियों और 30 ग्रामीण समेत कुल 60 लोग पिंडारी ग्लेशियर के पास खराब मौसम की चपेट में आए. आधिकारिक नोट में बताया गया कि इनमें से 4 ट्रेकरों के मारे गए और 2 अन्य लापता हैं. इनके रेस्क्यू के लिए एनडीआरएफ की टीम रास्ते में है जबकि वन और राजस्व विभाग की टीमें स्पॉट पर हैं. बता दें कि पिंडारी ग्लेशियर पर्वतारोहियों के बीच काफी लोकप्रिय हिमालयी क्षेत्र है.

और कहां अटके हैं कितने टूरिस्ट?

कुमाऊं अंचल में कई पर्यटक फंसे हुए हैं. गुंजी से आर्मी के चिनूक हेलीकॉप्टर ने 30 लोगों को एयरलिफ्ट किया, जिनमें से 11 पर्यटक थे. यह पिथौरागढ़ ज़िले में कैलाश मानसरोवर के रास्ते के बीच एक छोटे से पड़ाव से किया गया. ज़िले में महाराष्ट्र के एक पर्यटक के सर्दी से मारे जाने की खबर है. खराब मौसम के कारण ठप हुए रास्तों की वजह से अल्मोड़ा में सैकड़ों पर्यटक अटके हुए हैं. इसी तरह रास्तों के बंद होने से अन्य स्थानों पर भी लोग फंसे हुए हैं.

Tags: Snowfall in Uttarakhand, Uttarakhand news, Uttarkashi Heavy Snowfall

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर