Home /News /uttarakhand /

Red Alert : उत्तराखंड में 17 और 18 को होगी ज़बरदस्त बारिश, सावधान रहें चार धाम यात्री

Red Alert : उत्तराखंड में 17 और 18 को होगी ज़बरदस्त बारिश, सावधान रहें चार धाम यात्री

उत्तराखंड में भारी बारिश के आसार.

उत्तराखंड में भारी बारिश के आसार.

Heavy Rain Forecast : चार धाम यात्रियों के लिए पहुंच मार्ग बाधित हो सकते हैं. साथ ही, भूस्खलन और भूमि कटाव जैसी दुर्घटनाओं की भी आशंका है. उत्तराखंड के किस हिस्से में तूफानी बारिश का कैसा असर हो सकता है, जानिए.

    देहरादून. पिछले पूरे सप्ताह उत्तराखंड में मौसम इस तरह खुला रहा कि सबको बादलों के विदा हो जाने का भरोसा हो गया था, लेकिन अब ताज़ा भविष्यवाणी से राज्य की चिंता एक बार फिर बढ़ गई है. मौसम विभाग ने 17 और 18 यानी रविवार व सोमवार को राज्य के कई हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है. चार धाम यात्रियों को खासी समस्याएं पेश आ सकती हैं क्योंकि यहां हल्की बर्फबारी की भी चेतावनी है. स्काइमेट ने तो यहां तक भविष्यवाणी की है कि बारिश इतनी ज़बरदस्त हो सकती है कि भूस्खलन और मिट्टी के कटाव तक की घटनाओं से लोगों को खतरा हो सकता है.

    पहाड़ों में बर्फबारी की संभावना भी
    आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के बिक्रम सिंह के हवाले से कहा गया कि गढ़वाल और कुमाऊं दोनों ही अंचलों के कई इलाकों में बेहद भारी बारिश के आसार हैं क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव ज़बरदस्त दिख रहा है. सिंह ने बताया कि उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ ज़िलों के ऊंचे स्थानों पर बर्फबारी भी हो सकती है. वहीं, कुछ जगहों पर आंधी तूफान, बिजली चमकने के साथ ही हवाएं 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं.

    दो दिन काफी एहतियात बरतें
    राज्य में इस बारिश से केवल ट्रैफिक जाम होने जैसी समस्याएं ही पेश नहीं आएंगी, बल्कि पर्यटकों और स्थानीय लोगों को बिजली, तूफान और स्खलन जैसी दिक्कतों से भी दो चार होना पड़ सकता है. स्काईमेट ने यह भी लिखा कि 17 और 18 अक्टूबर को राज्य में कई तरह की सावधानियां और सतर्कताएं बरतने की ज़रूरत पेश आएगी. यही नहीं, राज्य से सटे उत्तर प्रदेश के खासकर तराई के क्षेत्रों में भी बारिश की पूरी संभावना है.

    Tags: IMD forecast, Uttarakhand news, Weather Alert, Weather news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर