उत्तराखंड में 564 पदों पर चल रही बेसिक शिक्षक भर्ती पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

देहरादून में सरकारी बेसिक स्कूलों में चल रही 564 सहायक अध्यापकों (असिस्टेंट टीचर्स) की भर्ती पर रोक लगा दी गई है.

News18 Uttarakhand
Updated: July 24, 2019, 12:23 PM IST
उत्तराखंड में 564 पदों पर चल रही बेसिक शिक्षक भर्ती पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक
उत्तराखंड में 564 पदों पर चल रही बेसिक शिक्षक भर्ती पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक (फाइल फोटो)
News18 Uttarakhand
Updated: July 24, 2019, 12:23 PM IST
उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सरकारी बेसिक स्कूलों में चल रही 564 सहायक अध्यापकों (असिस्टेंट टीचर्स) की भर्ती पर रोक लगा दी गई है. हाईकोर्ट में दायर एक रिट में दिए गए आदेश के तहत यह कार्रवाई की गई है. शिक्षा निदेशक आरके कुंवर ने भी सभी डीईओ-बेसिक को चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं दिए जाने का आदेश दिए है. संबंधित मामले में हाईकोर्ट का अगला फैसला आने के बाद ही इन पदों पर नियुक्ति का निर्णय होगा.

बेसिक शिक्षक के लिए शैक्षिक योग्यता स्नातक में 50 फीसदी

मामले में बेसिक अपर निदेशक वीएस रावत ने बताया कि राष्‍ट्रीय अध्‍यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने बेसिक शिक्षक भर्ती के मानक में कुछ बदलाव किए हैं. इसके तहत स्नातक में 50 फीसदी अंक लाने पर बीएड करने वाले अभ्यर्थियों को भी बेसिक शिक्षक की भर्ती में शामिल किया जा सकता है. इससे पहले केवल डीएलएड-बीएलएड और टीईटी पास होना ही बेसिक शिक्षक के लिए शैक्षिक योग्यता मानी जाती थी. कुछ लोगों ने इसके विरेाध में हाईकोर्ट में रिट दायर की है.

543 पद एससी और 11 पद एसटी बैकलॉग की भर्ती पर रोक (फाइल फोटो)


543 पद एससी और 11 पद एसटी बैकलॉग की भर्ती पर रोक

लिहाजा, हाईकोर्ट ने इस मामले में अंतिम फैसला होने तक सभी नियुक्तियों को रोकने का आदेश दिया है. इसके तहत सभी डीईओ को हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक दिशानिर्देश दे दिए गए हैं. बता दें कि शिक्षा विभाग में एससी और एसटी के बैकलॉग श्रेणी के 564 पदों पर भर्ती की जा रही थी, जिस पर अब हाईकोर्ट के आदेश के बाद रोक लग गई है. इसमें 543 पद एससी और 11 पद एसटी बैकलॉग के हैं.

ये भी पढ़ें:- भारी बारिश और भूस्खलन से बंद हुआ गंगोत्री नेशनल हाईवे 
Loading...

ये भी पढ़ें:- ‘ड्राई स्टेट बना दोगे तो पड़ोसी राज्यों से लाएंगे पीने वाले'
First published: July 24, 2019, 12:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...