अपना शहर चुनें

States

हाईवे पर दुर्घटनाएं रोकने के लिए तैनात होगी हाईवे पेट्रोलिंग यूनिट... 312 पदों पर भर्ती जल्द

किसी भी हाईवे में दुर्घटना होने पर फ़र्स्ट रिस्पॉन्स टीम के रूप में हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस हरकत में आएगी.
किसी भी हाईवे में दुर्घटना होने पर फ़र्स्ट रिस्पॉन्स टीम के रूप में हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस हरकत में आएगी.

किसी भी हाईवे में दुर्घटना होने पर फ़र्स्ट रिस्पॉन्स टीम के रूप में हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस हरकत में आएगी.

  • Share this:
देहरादून. प्रदेश के हाईवे पर सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए अब पुलिस मुख्यालय से कवायद तेज हो गई है. अब प्रदेश में सिटी पेट्रोलिंग यूनिट की तर्ज पर हाईवे पेट्रोलिंग यूनिट तैनात करने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए ट्रैफिक पुलिस 312 नए पदों पर भर्ती करवाने जा रही है. साथ ही हाईवे पेट्रोल में करीब 100 गाड़ियां भी रहेंगी जिसके लिए मुख्यालय स्तर से शासन में प्रस्ताव भी भेजा गया है.

24 घंटे रखेगी नज़र 

दरअसल प्रदेश में कई ऐसे हाईवे हैं जिनमे ओवरस्पीड के चलते अक्सर एक्सीडेंट होने की खबरें आती हैं. हाईवे में ओवरस्पीड पर लगाम लगाने के लिए अब उत्तराखंड में हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस तैनात की जा रही है. हाईवे पेट्रोलिंग यूनिट डायल 112 के साथ 108 से भी कनेक्ट रहेगी. यह 24 घण्टे हाईवे पर नज़र रखेगी. किसी भी हाईवे में दुर्घटना होने पर फ़र्स्ट रिस्पॉन्स टीम के रूप में हाईवे पेट्रोलिंग पुलिस हरकत में आएगी.




बता दें राज्य में पहले ही पहाड़ी जिलों और मैदानी जिलों में ट्रैफिक पुलिस के साथ दो अलग-अलग शाखाएं काम करती हैं- HPU (हिल पुलिस यूनिट) और CPU (सिटी पुलिस यूनिट). अब राज्य राजमार्गों पर हाईवे पेट्रोलिंग यूनिट के साथ पहली बार नया प्रयोग किया जा रहा है.

जल्द अनुमति मिलने की उम्मीद

पुलिस मुख्यालय ने इसे लेकर पूरा खाका तैयार कर दिया है. ये पेट्रोलिंग यूनिट संभवतः मार्च से काम करना शुरू कर देगी और मैदानी इलाकों के साथ पहाड़ी इलाकों में भी काम करेगी.

डीजीपी अशोक कुमार का कहना है कि इन गाड़ियों के आने से हाईवे सुरक्षित होगा. आशा की जा रही है कि इनसे एक्सीडेंट के मामलों में कुछ हद तक कमी आएगी और एक्सीडेंट होने पर मदद जल्द मिलेगा. डीजीपी ने उम्मीद जताई कि इसे शासन से भी जल्द अनुमति मिल जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज