होम /न्यूज /उत्तराखंड /इस व्हिस्की से मची उत्तराखंड में हलचल... कांग्रेस ने पूछा, ‘हम करें तो पाप, बीजेपी करे तो पुण्य?’

इस व्हिस्की से मची उत्तराखंड में हलचल... कांग्रेस ने पूछा, ‘हम करें तो पाप, बीजेपी करे तो पुण्य?’

देवप्रयाग के हिल टॉप पर शराब फैक्ट्री खोलने का मामला गर्मा गया है और सोशल मीडिया से लेकर प्रदेश की राजनीति तक में सरगर्मी है.

देवप्रयाग के हिल टॉप पर शराब फैक्ट्री खोलने का मामला गर्मा गया है और सोशल मीडिया से लेकर प्रदेश की राजनीति तक में सरगर्मी है.

हरीश रावत सोशल मीडिया पर अक्सर सियासी सुर्खियां बटोरते आए हैं और देवप्रयाग के हिल टॉप में व्हिस्की प्लांट लगाने का मुद् ...अधिक पढ़ें

    देवप्रयाग के हिल टॉप पर शराब फैक्ट्री खोलने के हरीश रावत के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया से लेकर प्रदेश की राजनीति का पारा गर्मा गया है. न्यूज़18 ने सबसे पहले इस खबर को दिखाया जिसके बाद अब इस मामले में पॉलिटिक्ल रिएक्शन के साथ साधु संतों की भी प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगी है. गंगा महासभा के महामंत्री जितेन्द्र सरस्वती ने बयान जारी कर शराब कम्पनी हिल टॉप का लाइसेंस रद्द करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को खुद इस मामले में संज्ञान लेना चाहिए. बता दें आपको कि देवप्रयाग एक धर्मनगरी है इस वजह से भी वहां शराब फैक्ट्री खोलने का विरोध हो रहा है.

    कांग्रेस ने खड़े किए सवाल

    देवप्रयाग के हिल टॉप में शराब फैक्ट्री लगाने को लेकर कांग्रेस ने भी सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस ने सरकार के ज़रिए इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने को लेकर कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में शुरु किए गए इस प्रोजेक्ट का बीजेपी ने सड़कों पर उतरकर खूब विरोध किया था लेकिन अब भाजपा कांग्रेस के प्रोजेक्ट को आगे बढ़ा रही. कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी पूछती हैं, “वे इस बात का जवाब चाहते हैं कि अगर कांग्रेस कोई काम करे तो वह पाप है और वही काम बीजेपी करे तो वह पुण्य क्यों बन जाता है? ”

    हरीश के ट्वीट से उछला मुद्दा 

    हरीश रावत सोशल मीडिया पर अक्सर सियासी सुर्खियां बटोरते आए हैं और देवप्रयाग के हिल टॉप में व्हिस्की प्लांट लगाने का मुद्दा भी उन्हीं के ट्वीट से गर्माया है. अपने ट्वीट में हिन्दी और कुमाऊंनी में एक संदेश जनता के नाम लिख हरीश रावत ने पूछा कि जब वह अपने कार्यकाल में फलों, साग-सब्जियों की एल्कोहल युक्त फ्रूटी बनाने के लिए बात कर रहे थे तब खूब विरोध हुआ था. अब जब धर्मनगरी देवप्रयाग के हिल टॉप में व्हिस्की परोसने के प्रोजेक्ट पर सरकार काम कर रही है तो अब सब क्यों खामोश हैं?

    (देहरादून से सबिहा परवीन की रिपोर्ट)

    Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

    Tags: Ganga, Hindu, Tehri news, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें