आज फिर सड़क पर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे हिंदू संगठन के कार्यकर्ता, पुलिस अलर्ट

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि उत्‍तराखंड सरकार सांप्रदायिक सौहार्द्र का माहौल बनाने के बजाय खाई को और चौड़ा करने में लगी हुई है.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: July 30, 2019, 2:18 PM IST
आज फिर सड़क पर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे हिंदू संगठन के कार्यकर्ता, पुलिस अलर्ट
पिछले मंगलवार को भी हिंदू संगठनों के सड़क पर हनुमान चालीसा का पाठ करने की वजह से लंबा जाम लग गया था. (फ़ाइल फ़ोटो)
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: July 30, 2019, 2:18 PM IST
सड़क पर नमाज पढ़ने के विरोध में हिंदू युवा वाहिनी समेत तमाम हिन्दू संगठनों ने एक बार फिर शाम छह बजे चकराता रोड पर सड़क से लगे मन्दिर में हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया है. हिंदूवादी संगठनों का कहना है कि बड़ी संख्या में हनुमान भक्त इकट्ठा होंगे और अगर बीच सड़क पर हनुमान चालीसा का पाठ करना पड़े तो करेंगे. चकराता रोड हैवी ट्रैफिक वाला मार्ग है. पिछले मंगलवार को भी हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं द्वारा सड़क पर हनुमान चालीसा का पाठ करने की वजह से लंबा जाम लग गया था. बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह लोगों को हटाया था. मंगलवार को हिंदू संगठनों के ऐलान के बाद एक बार फिर तनाव का माहौल बनने की आशंका है.

'खाई को चौड़ा कर रही है बीजेपी'

कांग्रेस इस मुद्दे पर हमलावर हो गई है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सरकार से अपना मंतव्य स्पष्ट करने को कहा है. उन्होंने कहा कि सरकार सांप्रदायिक माहौल बनाने के बजाय खाई को और चौड़ा करने में लगी हुई है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि धर्म के नाम पर अव्यवस्था फैलाने को कतई ठीक नहीं कहा जा सकता.

दूसरी ओर भाजपा हिंदू वाहिनी के इस कदम का समर्थन करती नज़र आ रही है. पार्टी के प्रदेश महामंत्री अनिल गोयल ने कहा कि यह देव भूमि के लोगों की आस्था से जुड़ा मामला है और किसी को भी अपनी आस्था प्रकट करने से रोका नहीं जा सकता.

पुलिस अलर्ट 

पुलिस इस मामले को लेकर सतर्क है. एसपी सिटी श्वेता चौबे ने कहा कि देहरादून पुलिस ने इस ऐलान को लेकर तैयारियां की हैं. इलाके की पुलिस को तैयार रहने को कह दिया गया है. किसी भी स्थिति में माहौल को बिगड़ने नहीं दिया जाएगा. उच्चाधिकारी इस मामले पर नज़र रखे हुए हैं.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें
First published: July 30, 2019, 1:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...