देहरादून में नो पार्किंग ज़ोन में खड़ी की गाड़ी तो अब जुर्माना भी देना होगा और क्रेन का किराया भी

देहरादून में जल्द ही कहीं भी, कभी भी गाड़ी पार्क करने वालों को यह आदत भारी पड़ सकती है.
देहरादून में जल्द ही कहीं भी, कभी भी गाड़ी पार्क करने वालों को यह आदत भारी पड़ सकती है.

देहरादून SSP अरुण मोहन जोशी के अनुसार यह योजना लागू होने से वह सीमित साधनों से ही वे जाम से निजात पा सकेंगे

  • Share this:
देहरादून में नो पार्किंग ज़ोन में गाड़ी खड़ी करना अब दोगुना महंगा पड़ सकता है. देहरादून पुलिस की योजना को मंज़ूरी मिली तो नो पार्किंग ज़ोन में गाड़ी खड़ी गाड़ी को प्राइवेट क्रेन भी उठा सकेगी और आपको नो पार्किंग के चालान के साथ 500 से एक हजार का अतिरिक्त जुर्माना देना होगा. वह इसलिए क्योंकि अब नो पार्किंग ज़ोन में खड़ी गाड़ियों को ले जाने वाली निजी क्रेन का किराया भी आपको ही देना होगा. इसके बाद ही एसपी ट्रैफिक ऑफ़िस या ट्रैफ़िक पुलिस द्वारा चिन्हित स्थान से आपकी गाड़ी को छोड़ा जाएगा.

अवैध पार्किंग के ख़िलाफ़ प्रभावी होगा अभियान

देहरादून में लगातार बढ़ रहे जाम को देखते हुए एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने पुलिस हेडक्वार्टर के माध्यम से शासन में एक पत्र भेजा है. पत्र में शासन से अनुमति मांगी गई है कि पुलिस निजी क्रेनों को भी किराए पर ले सके. इस योजना से जिससे पुलिस को दोहरा फायदा होगा एक तो शहर में जाम की स्थिति पर कुछ हद तक रोक लगेगी दूसरा पुलिस की सरकारी क्रेन को शहर में नहीं घूमना पड़ेगा.



पुलिस के सामने चुनौती यह है कि उसके पास सीमित क्रेन हैं इसलिए वह व्यापक पैमाने पर अवैध पार्किंग के ख़िलाफ़ अभियान नहीं चला पाती. इस योजना से जहां पुलिस प्रभावी ढंग से अवैध पार्किंग के ख़िलाफ़ अभियान चला सकेगी वहीं इससे शहर में स्थित प्राइवेट क्रेन संचालकों को भी फ़ायदा मिलेगा.
ऐसे होगा काम

प्राइवेट क्रेन संचालकों की ज़िम्मेदारी यह होगी कि किसी भी इलाके में कोई वाहन नो पार्किंग ज़ोन में या गलत तरीके से खड़ा पाया गया तो क्रेन संचालक गाड़ी की एक तस्वीर लेकर पुलिस डिपार्टमेंट को सूचित करेगा. वहां से अनुमति मिलने पर क्रेन से गाड़ी को उठाकर एसपी ट्रैफिक ऑफिस द्वारा चिन्हित स्थान पर ड्रॉप करेगा.

जब वाहन स्वामी अपनी गाड़ी को छुड़वाएगा उससे नो पार्किंग शुल्क के साथ ही अतिरिक्त भाड़ा यानी क्रेन का 500 से 1000 रुपये भी वसूल किया जाएगा.

पुलिसकर्मी कर सकेंगे दूसरे काम

बता दें कि शहर में अनलॉक के बाद कई काम शुरू हो गए हैं. देरादून स्मार्ट सिटी का भी अब लगातार चल रहा है. इसकी वजह से शहर में कई स्थानों पर नो पार्किंग की गाड़ियों से जाम की स्थिति पैदा हो जाती है. इससे निपटने के लिए देहरादून पुलिस ने यह योजना बनाई है. शासन की अनुमति के बाद इसे धरातल पर उतारा जाएगा.

एसएसपी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि इस योजना से वह सीमित साधनों से ही वे जाम से निजात पा सकेंगे और अभी तक जिन ट्रैफिक जवानों से ये काम करवाया जाता था उनका उपयोग अन्य जगह पर किया जा सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज