अधिकारियों के कारनामे से बिजली विभाग को करोड़ों की चपत, एक बैंक से ओवरड्राफ्ट कर दूसरे में बैंक में कर दी एफडी
Dehradun News in Hindi

उत्तराखण्ड में बिजली विभाग का अनोखा कारनामा सामने आया है. कारनामा भी ऐसा जिससे विभाग को करोड़ों की चपत लग रही है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
उत्तराखण्ड में बिजली विभाग का अनोखा कारनामा सामने आया है. कारनामा भी ऐसा जिससे विभाग को करोड़ों की चपत लग रही है. उत्तराखण्ड पावर कार्पोरेशन ने दो साल पहले पीएनबी बैंक के अकाउंट से पचास करोड़ रूपए ओवर ड्राफ्ट किए थे. इन पैसों का इस्तेमाल कहां और कैसे हुआ ये जानकर आप को भी हैरानी होगी. विभाग ने 50 करोड़ रूपए पीएनबी बैंक से निकाले और बैंक ऑफ बड़ौदा में फिक्स डिपॉजिट कर दिये. ऐसा करने के दो दिन बाद विभाग ने बैंक ऑफ बड़ौदा से ही पचास करोड़ रूपये उधार लिये और ओवर ड्राफ्ट के पैसे चुका दिए.

इस पूरी प्रक्रिया में बिजली से संबंधित तो कोई काम हुआ नहीं बल्कि बैठे-बिठाये विभाग को करोड़ों की चपत लग गयी. बैंक ऑफ बड़ोदा में पचास करोड़ के फिक्स डिपॉजिट से बिजली विभाग को जितना ब्याज मिलता है. उससे ज्यादा ब्याज उसे ओवर ड्राफ्ट को चुकाने के लिए जो लोन लिया उस पर देना पड़ रही है. अब ऊपर वाला ही जाने की ऐसा करने वाले अफसर आखिर किसका भला चाह रहे थे. इस फैसले से विभाग को सालाना ढाई करोड़ का नुकसान उठाना पड़ रहा है.

संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग



वहीं आरटीआई एक्टिविस्ट भी मानते हैं कि निगम को करोड़ों रूपए का राजस्व घाटा है. जिसका खामियाजा आम उपभोक्ताओं को सालाना बिजली के बड़े दामों से चुकाना पडता है. ऐसे मामलों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए.



ये भी पढ़ें- आबादी के करीब देखा गया तेंदुआ, सीसीटीवी में कैद तस्वीरों से लोगों में दहशत

6 साल पहले गुपचुप की शादी, एक बच्चे के जन्म के बाद अब जा रहा दूसरा ब्याह रचाने

 
First published: July 4, 2019, 8:52 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading