आयकर अधिकारी श्वेताभ सुमन को 7 साल कैद, साढ़े तीन करोड़ जुर्माना

देहरादून सीबीआई कोर्ट ने बुधवार को आय से अधिक संपत्ति के मामले में 1988 बैच के IRS अधिकारी श्वेताभ सुमन को 7 साल की सज़ा सुनाई है. सुमन पर 3,50,70,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है.

News18 Uttarakhand
Updated: February 13, 2019, 11:03 PM IST
आयकर अधिकारी श्वेताभ सुमन को 7 साल कैद, साढ़े तीन करोड़ जुर्माना
देहरादून सीबीआई कोर्ट ने आज आय से अधिक संपत्ति के मामले में 1988 बैच के IRS अधिकारी श्वेताभ सुमन को 7 साल की सज़ा सुनाई है.
News18 Uttarakhand
Updated: February 13, 2019, 11:03 PM IST
देहरादून सीबीआई कोर्ट ने बुधवार को आय से अधिक संपत्ति के मामले में 1988 बैच के IRS अधिकारी श्वेताभ सुमन को 7 साल की सज़ा सुनाई है. सुमन पर 3,50,70,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है. यह जुर्माना राशि उतनी है जितनी श्वेताभ सुमन ने ग़लत तरीकों से अर्जित की थी. सुमन के साथ ही उनकी मां और जीजा और एक सहयोगी को भी सज़ा सुनाई गई है.

यह भी देखें- VIDEO: बीजेपी से जुड़े अनिल गोयल के सात ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमारी

सीबीआई ने श्वेताभ सुमन के ख़िलाफ़ 2005 में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत चार्जशीट दाखिल की थी. उनके देहरादून स्थित आवास पर जब छापा मारा गया था तब वह आयकर विभाग में अपर आयुक्त के तौर पर तैनात थे.



यह भी देखें- ऋषिकेश में 4 बिल्डरों पर इनकम टैक्स के छापे, करोड़ों की बेनामी संपत्ति मिली

सीबीआई अदालत ने अलग-अलग धाराओं में श्वेताभ सुमन को सात साल और पांच साल कैद की सज़ा सुनाई हैं. पहले मामले में उन पर साढ़े तीन करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया गया जिसे न देने पर उन्हें 18 महीने जेल में और काटने पड़ेंगे. दूसरी सज़ा में पांच साल कैद और 10,000 रुपये जुर्माना लगाया गया है जिसे न चुकाने पर दो महीने और जेल में काटने पड़ेंगे.

यह भी पढ़ें- विपक्षियों की मार्शल्स से धक्का-मुक्की, आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट पेश, 5वीं बार स्थगित सदन

सीबीआई अदालत ने श्वेताभ सुमन के जीजा अरुण कुमार और एक सहयोगी राजेंद्र विक्रम सिंह को चार- चार साल कैद और 20-20 हज़ार रुपये जुर्माने की सज़ा सुनाई है. जुर्माना न भरने पर चार महीने की अतिरिक्त कैद काटनी होगी.
Loading...

यह भी देखें- ज़ोरदार प्रदर्शन के बीच दिखी कांग्रेस की फूट... गोदियाल ने मांगा इंदिरा हृदयेश का इस्तीफ़ा

श्वेताभ सुमन की मां गुलाब देवी के स्वास्थ्य को देखते हुए उन्हें एक साल की सज़ा सुनाई गई है. सज़ा सुनने के बाद श्वेताभ सुमन ने इस फ़ैसले को ऊपरी अदालत में चुनौती देने की बात कही.

यह भी देखें- VIDEO: धरने का जवाब धरना.... नेता प्रतिपक्ष के कमरे के बाहर धरने पर बैठे BJP MLA

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर