Assembly Banner 2021

EXCLUSIVE: तीरथ सरकार की रेलवे से अपील- 11 से 14 अप्रैल तक उत्तराखंड के लिए न चलाएं ट्रेन

उत्‍तराखंड सरकार ने कोरोना की वजह से यह कदम उठाया है.

उत्‍तराखंड सरकार ने कोरोना की वजह से यह कदम उठाया है.

उत्तराखंड सरकार ( Uttarakhand Government) ने हरिद्वार महाकुंभ(Haridwar Mahakumbh 2021) को देखते हुए भारतीय रेलवे से 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक उत्तराखंड के लिए कोई ट्रेन न चलाने का आग्रह किया है.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना वायरस के चलते बेकाबू हुए संक्रमण को लेकर पूरा देश हलकान है. संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए केंद्र के साथ ही प्रदेश सरकारें भी तरह-तरह के उपाय कर रही हैं. इसी बीच उत्‍तराखंड से एक बड़ी खबर सामने आई है. प्रदेश की तीरथ सिंह रावत की सरकार ( Uttarakhand Government) ने इंडियन रेलवे से विशेष आग्रह किया है. प्रदेश सरकार ने रेलवे से 11 से 14 अप्रैल तक उत्‍तराखंड के लिए ट्रेन न चलाने की अपील की है. प्रदेश सरकार ने बेकाबू होते कोरोना संक्रमण और महाकुंभ को लेकर यह आग्रह किया है. फिलहाल दिल्‍ली से उत्‍तराखंड के हरिद्वार के लिए कुल 21 ट्रेनें चल रही हैं. इनसे बड़ी तादाद में लोग प्रदेश में प्रवेश कर रहे हैं.

बता दें कि इससे पहले भारतीय रेलवे कुंभ की वजह से 11 से 14 अप्रैल तक हरिद्वार रेलवे स्टेशन (Haridwar Railway Station) पर सभी ट्रेनों के स्टॉपेज को रद्द करने का ऐलान कर चुका है. 12 से 14 अप्रैल के बीच कुंभ में शाही स्नान का आयोजन किया जाएगा. कुंभ का पहला शाही स्नान 11 मार्च को हो चुका है. दूसरा शाही स्नान 12 अप्रैल को चैत्र अमावस्या और सोमवती अमावस्या के दिन होगा. इसके साथ ही 14 अप्रैल को मेष संक्रांति पर शाही स्नान होगा. महाकुंभ की हिंदुओं में गहरी आस्था है. इसी को लेकर शाही स्नान के मौके पर भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं.

बहरहाल, मंगलवार को सीएम तीरथ सिंह रावत ने अपने हरिद्वार महाकुंभ दौरे के दौरान कहा कि यह महाकुंभ भव्य और दिव्य होगा. इस महाकुंभ के लिए देश और दुनिया की श्रद्धालु खुले दिल से आमंत्रित हैं. कोरोना गाइडलाइन को फॉलो करते हुए श्रद्धालु महाकुंभ में स्नान कर सकते हैं. इस दौरान सीएम तीरथ ने गंगा सभा द्वारा आयोजित महाकुंभ आरती में भी हिस्सा लिया था.



कुंभ को उसकी परंपरा के अनुसार रखेंगे व्यापक: रावत
यही नहीं, मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कुंभ को उसकी परंपरा के अनुसार ही व्यापक रखा जाएगा. इसके आयोजन में सरकार पूरी तैयारी कर रही है. कुंभ के बड़े स्नानों के मौके पर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं और साधु-संतों के ऊपर आसमान से फूलों की वर्षा की जाएगी. इसके लिए विशेष हेलीकाप्टर लगाए जाएंगे. महाकुंभ भव्यता के साथ होगा. किसी भी श्रद्धालु को यहां आने पर कोई भी असुविधा नहीं होगी. इसको लेकर व्यापक इंतजाम किए जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज