कांवड़ यात्राः जाम से बचना मुश्किल, अधूरे फ़्लाइओवरों ने बढ़ाई उत्तराखंड पुलिस की चुनौती

कांवड़ यात्रा के लिए 10000 पुलिस कर्मियों को तैनात किया जा रहा है. इनके अलावा 6 कंपनी पैरा मिलिट्री फ़ोर्स भी सुरक्षा में तैनात रहेगी.

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: July 15, 2019, 4:09 PM IST
कांवड़ यात्राः जाम से बचना मुश्किल, अधूरे फ़्लाइओवरों ने बढ़ाई उत्तराखंड पुलिस की चुनौती
कांवड़ यात्रा उत्तराखंडड पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक होती है.
Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: July 15, 2019, 4:09 PM IST
उत्तराखंड पुलिस बुधवार से शुरु हो रही कांवड़ यात्रा के लिए कमर कस रही है. पुलिस के आलाधिकारी मान रहे हैं कि यह साल में राज्य पुलिस के सामने आने वाली सबसे बड़ी चुनौती है. उत्तराखंड पुलिस के 10000 जवानों के साथ ही 6 बटालियन पैरा मिलिट्री फ़ोर्स भी इस कांवड़ यात्रा को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए तैनात की जा रही है. लेकिन दिक्कत यह है कि कांवड़ मार्ग पर बन रहे चार-पांच पुलों की वजह से बॉटलनेक बन रहे हैं और वहां जाम लग रहा है.

सबसे बड़ी चुनौती 

हरिद्वार में देहरादून-हरिद्वार रोड पर रविवार को 5 किलोमीटर लम्बा जाम लगा जिससे लोग घंटों जाम में फंसे रहे. ऐसा ही जाम गर कांवड़ यात्रा के दौरान लगता है तो पुलिस के लिए बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है. उत्तराखंड पुलिस के डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार मानते हैं कि यह एक समस्या हो सकती है. हालांकि वह कहते हैं कि इससे बचने के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है.

इस बार कांवड़ यात्रा में आई कार्ड होगा अनिवार्य... अपने-अपने थाने में भी देनी होगी जानकारी

डीजी (कानून-व्यवस्था) कांवड़ ने सोमवार को ही यात्रा के लिए रूट मैप तैयार करने के लिए आज हरिद्वार में पुलिसकर्मियों को ब्रीफ़ किया. न्यूज़ 18 से बातचीत में उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा साल भर में पुलिस के सामने आने वाली सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक होती है. हालांकि राज्य की पुलिस ने हर बार कांवड़ियों को नियंत्रण में रखा है और इस बार भी ऐसा ही होगा.

अधूरे निर्माण बने मुसीबत 

हरिद्वार में रविवार को लगे जाम के बारे में पूछे जाने पर अशोक कुमार ने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है कि हरिद्वार रोड पर चार-पांच फ़्लाइओवर बन रहे हैं. निर्माण कार्य जारी होने की वजह से इन स्थानों पर बॉटलनेक बन गए हैं और यही जाम की वजह बन रहे हैं. पुलिस की पूरी कोशिश है कि इन जगहों पर जाम न लगने पाए और आवाजाही लगातार बनी रहे.
Loading...

कांवड़ मेला 17 जुलाई से, हरियाणा-पश्चिमी यूपी के गांवों तक बताए जाएंगे Dos & Donts

कांवड़ यात्रा के 15 दिन के दौरान करीब 3 करोड़ कांवड़ियों के आने का अनुमान है. इतनी बड़ी संख्या को नियंत्रित करने के लिए 10000 पुलिस कर्मियों को तैनात किया जा रहा है. इनके अलावा 6 कंपनी पैरा मिलिट्री फ़ोर्स भी सुरक्षा में तैनात रहेगी. इसमें 3 कंपनी आरएएफ़, एक-एक कंपनी आईटीबीपी, सीआईएसएफ़ और सीआरपीएफ़ की होगी.

 

मसूरी में कांवड़ियों के प्रवेश पर बैन, पुलिस बोली- मचाते हैं उत्पात

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें
First published: July 15, 2019, 4:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...