जानिए देहरादून में एयर पॉल्यूशन को लेकर क्या कहा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने.....

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: November 16, 2018, 10:21 AM IST
जानिए देहरादून में एयर पॉल्यूशन को लेकर क्या कहा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने.....
क्लॉक टावर, देहरादून

उत्तराखंड का सबसे अधिक पॉपुलेशन, ट्रांसपोटेशन वाला शहर होने के बावजूद देहरादून की हवा का साफ होना राज्य के लोगों के लिए अच्छी खबर है.

  • Share this:
दीपावली के बाद  देशभर में जहां हवा जहरीली होने की खबरे टॉप पर बनी हुई हैं, वहीं इस मामले में उत्तराखंड से राहत भरी खबर आ रही है. गुरुवार शाम जारी राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकडे़ बताते हैं कि देवभूमि की आबोहवा कमोबेश अभी भी प्रदूषित नहीं हुई है.

राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने हवा में धूल के 2.5 माइक्रोन और 10 माइक्रोन तक के कणों के साथ ही सल्फर डाई ऑक्साइड और ऑक्साइड ऑफ नाइट्रोजन की मात्रा समेत चार पैरामीटर पर प्रदूषण की जांच की. देहरादून के घंटाघर, आईएसबीटी और नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में एक से चौदह नवंबर तक बोर्ड ने वायु प्रदूषण के आंकडे जुटाए. दीपावली की रात को छोड़ दिया जाए तो दून में प्रदूषण का स्तर सामान्य बना हुआ है.

हालांकि स्टैंडर्ड पैरामीटर पर देखें तो दून की हवा में भी थोड़ा-बहुत प्रदूषण की मात्रा बनी हुई है. इसमें भी नेहरू कॉलोनी सबसे अधिक प्रदूषित है, तो दूसरे स्थान पर आईएसबीटी का क्षेत्र और तीसरे स्थान पर घंटाघर का क्षेत्र सबसे अधिक प्रदूषित है.

यह भी पढ़ें- देहरादून की आबोहवा और युवाओं को भूल गई पार्टियां, किसी दृष्टिपत्र में ज़िक्र नहीं

सल्फर डाई ऑक्साइड और ऑक्साइड ऑफ नाइट्रोजन की मात्रा के मामले दून की हवा आदर्श स्थिति में है. दीपावली के दिन भी जब  प्रदूषण का स्तर दो से तीन गुना अधिक पहुंच गया था तब भी  सल्फर डाई ऑक्साइड और ऑक्साइड ऑफ नाइट्रोजन जैसी खतरनाक गैंसों की मात्रा स्टैंडर्ड मानकों के अनुरूप थी.

उत्तराखंड का सबसे अधिक पॉपुलेशन, ट्रांसपोटेशन वाला शहर होने के बावजूद देहरादून की हवा का साफ होना राज्य के लोगों के लिए अच्छी खबर है.

यह भी पढ़ें- खुल गया राजाजी नेशनल पार्क, जानवरों के देखने के साथ बर्ड वाचिंग भी कर पाएंगे पर्यटक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2018, 9:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...