लालढांग-चिल्लरखाल पर निकली बीच की राह, वन विभाग लेगा आदेश वापस, शुरु होगा काम

अपर मुख्य सचिव PWD ओमप्रकाश ने कहा कि वन विभाग काम रोकने के अपने आदेश को निरस्त कर देता है तो शासन फिर काम शुरु करवा देगा.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: May 27, 2019, 6:20 PM IST
लालढांग-चिल्लरखाल पर निकली बीच की राह, वन विभाग लेगा आदेश वापस, शुरु होगा काम
आचार संहिता समाप्त होने के बाद आज वन मंत्री हरक सिंह रावत ने लोक निर्माण विभाग, वन विभाग और शासन के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई थी.
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: May 27, 2019, 6:20 PM IST
लालढांग-चिल्लरखाल मोटर मार्ग पर वन मंत्री हरक सिंह रावत और राज्य के सबसे ताकतवर अधिकारी ओमप्रकाश के बीच आखिर संघर्ष विराम हो ही गया. आज हुई बैठक में सड़क को लेकर बीच का रास्ता निकल गया. बता दें कि लोक निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने लालढांग-चिल्लरखाल मार्ग का निर्माण रुकवा दिया था जिससे हरक सिंह नाराज़ हो गए थे और इस्तीफ़े तक की धमकी दे डाली थी. इसके बाद हरक सिंह रावत खुद कोटद्वार पहुंच गए थे और यह कहकर काम शुरु करवाया था कि इसका पैसा वह अपनी जेब से देंगे.

जल्द ही बिना यूपी जाए पहुंचें देहरादून से कोटद्वार... लालढांग-चिल्लरखाल मार्ग की अड़चनें दूर

आचार संहिता समाप्त होने के बाद आज वन मंत्री हरक सिंह रावत ने लोक निर्माण विभाग, वन विभाग और शासन के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई थी. बैठक के बाद हरक सिंह रावत ने दावा किया कि  बैठक में इस बात पर एक राय व्यक्त की गई कि लालढांग-चिल्लरखाल मोटर मार्ग के सुधारीकरण कार्य में कहीं भी नेशनल टाइगर कंज़र्वेशन अथॉरिटी (एनटीसीए) के नियमों का उल्लंघन नहीं हो रहा है.

laaldhang chillarkhal motor road
लालढांग-चिल्लरखाल मार्ग


बैठक में मौजूद अपर मुख्य सचिव लोक निर्माण विभाग ओमप्रकाश का कहना था कि यदि वन विभाग काम रोकने के अपने आदेश को निरस्त कर देता है तो शासन फिर काम शुरु करने के आदेश जारी कर देगा. वन मंत्री ने नोडल ऑफ़िसर भूमि हस्तांतरण, चीफ़ वाइल्ड लाइफ़ वार्डन और फ़ॉरेस्ट चीफ़ को मंगलवार तक बिंदुवार अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपने को कहा है.

फिर बनेगा लालढांग-चिल्लरखाल मार्ग का एस्टीमेट, डामरीकृत होगा

हालांकि बैठक के बाद अफ़सर मीडिया से नजरें बचाते रहे. पहले काम रोकने का आदेश जारी करने वाली चीफ़ वाइल्ड लाइफ़ वॉर्डन रंजना काला इस मुद्दे पर गोलमोल जवाब देती दिखीं. न्यूज़ 18 के सवाल के जवाब में उन्होंने माना कि एनटीसीए ने काम रोकने को नहीं कहा था. इसके बाद कहा कि एनटीसीए के निर्देशों का अध्ययन किया जा रहा है, फिर कहा कि अध्ययन हो चुका है उस पर रिपोर्ट बनानी है.
मतलब साफ़ है कि मीटिंग के बाद बिटवीन द लाइन्स बहुत कुछ पढ़ा जाना अभी बाकी है.

आसान नहीं है लालढांग-चिल्लरखाल सड़क का निर्माण

लालढांग-चिल्लरखाल मोटर मार्ग खुलने से पुलिस की बढ़ी मुश्किल, जाने क्यों?

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...