• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • रावण वध के बाद ब्रह्महत्या के पाप से मुक्ति पाने के लिए यहां आए थे भगवान लक्ष्मण!

रावण वध के बाद ब्रह्महत्या के पाप से मुक्ति पाने के लिए यहां आए थे भगवान लक्ष्मण!

लक्ष्मण

लक्ष्मण सिद्ध मंदिर देहरादून के 4 सिद्ध मंदिरों में से एक है.

देहरादून का लक्ष्मण सिद्ध मंदिर ऋषि दत्तात्रेय के चौरासी सिद्धों में से एक है.

  • Share this:

    हिंदू धार्मिक मान्यताओं के लिए देवभूमि उत्तराखंड रहस्यमयी पौराणिक कथाओं के लिए भी विख्यात है. अक्सर ऐसा कहा जाता है कि यहां के कण-कण में ईश्वर का वास है. राजधानी देहरादून में 4 सिद्ध मंदिर या पीठ हैं और यह शहर के 4 कोनों में स्थापित हैं. देहरादून के 4 सिद्धों में लक्ष्मण सिद्ध, कालू सिद्ध, मानक सिद्ध और मांडु सिद्ध हैं.

    देहरादून का लक्ष्मण सिद्ध मंदिर ऋषि दत्तात्रेय के चौरासी सिद्धों में से एक है. लोक मान्यता के अनुसार, रावण का वध करने के बाद ब्रह्महत्या के दोष से मुक्ति पाने के लिए भगवान लक्ष्मण ने इसी स्थान पर तपस्या की थी.

    एक अन्य मान्यता के अनुसार, भगवान दत्तात्रेय ने लोककल्याण के लिए 84 शिष्य बनाए थे और उन्हें अपनी सभी शक्तियां प्रदान की थीं. कालांतर में ये चौरासी शिष्य 84 सिद्ध के नाम से जाने गए और इनके समाधि स्थल सिद्धपीठ या सिद्ध मंदिर बन गए. इन्हीं 84 सिद्धों में देहरादून के चार सिद्ध भी हैं. इन चारों में लक्ष्मण बाबा भी हैं, इसलिए इस मंदिर का नाम लक्ष्मण सिद्धपीठ मंदिर रखा गया क्योंकि उन्होंने यहीं पर समाधि ली थी.

    तपस्या स्थल पर प्राचीन काल से निरंतर अखंड धूनी जल रही है. बताया जाता है कि इस अखंड धुनी में कभी मुंह से फूंक नहीं मारी जाती है. यहां पर बनाए गए भोजन का ही भोग मंदिर में लगाया जाता है. धुनी की राख को प्रसाद के तौर पर श्रद्धालुओं को वितरित किया जाता है.

    इस मंदिर में भगवान को गुड़, घी, दही आदि भेंट के रूप में चढ़ाया जाता है क्योंकि पुराने समय में गुड़ एवं अन्य सामग्री मिठाई होती थी, इसलिए प्राचीन काल से गुड़ का प्रसाद इस मंदिर में चढ़ाया जाता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज