निकाय चुनावः मतगणना 20 से लेकिन नतीजे आएंगे 21 को

सब कुछ ठीक ठाक रहा और काउण्टिंग में कोई दिक्कत नहीं हुई तो सबसे जल्दी रुद्रपुर सीट पर मेयर का फैसला हो जाएगा.

Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: November 19, 2018, 3:41 PM IST
निकाय चुनावः मतगणना 20 से लेकिन नतीजे आएंगे 21 को
इस बार देर होने का कारण यह रहेगा कि चुनाव बैलेट पेपर से कराए गए हैं. न्यूज़ 18 की रिसर्च और पुरानी मतगणना के रिकॉर्ड को देखते हुए यह साफ़ हो रहा है कि मेयर के पद पर नतीजे 20 नवम्बर को काउण्टिंग के दिन कतई नहीं मिल पाएंगे.
Manish Kumar
Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: November 19, 2018, 3:41 PM IST
फटाफट चुनाव नतीजों को जान लेने की आपकी आदत इस बार आपको परेशान कर सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि नगर निकाय के चुनाव में नतीजे देर से आएंगे. ईवीएम से विधानसभा और लोकसभा में चुनाव होने के कारण लोगों को चुनाव के नतीजे मतगणना के दिन ही जान लेने की आदत सी पड़ गई है लेकिन, नगर निकाय के नतीजों के लिए पूरा एक दिन इंतजार करना पड़ सकता है. यानी गिनती भले ही 20 नवम्बर को शुरु हो जाएगी लेकिन, मेयर सीट पर नतीजे आयेंगे 21 तारीख को ही.

इस बार देर होने का कारण यह रहेगा कि चुनाव बैलेट पेपर से कराए गए हैं. न्यूज़ 18 की रिसर्च और पुरानी मतगणना के रिकॉर्ड को देखते हुए यह साफ़ हो रहा है कि मेयर के पद पर नतीजे 20 नवम्बर को काउण्टिंग के दिन कतई नहीं मिल पाएंगे. इसके लिए उम्मीद्वारों और लोगों को अगले दिन यानी 21 नवम्बर तक इंतजार करना पड़ेगा.

बता दें कि पिछली बार 2013 में प्रयोग के तौर पर प्रदेश की चार मेयर सीटों देहरादून, हल्द्वानी,रुड़की और हरिद्वार में ईवीएम से वोटिंग हुई थी फिर भी इन चार जगहों पर नतीजे आने में रात हो गई थी. ऐसे में जब इस बार सभी सीटों पर बैलेट पेपर से ही वोट डाले गये हैं तो अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं होगा कि नतीजे अगले दिन ही आ पाएंगे. मेयर की सीटों पर हुई वोटिंग के पर्सेंटेज से इसे और भी आसानी से समझा जा सकता है. किस सीट पर सबसे पहले और किस सीट पर सबसे देर से नतीजे आएंगे, आइए इसे समझते हैं.

सब कुछ ठीक ठाक रहा और काउण्टिंग में कोई दिक्कत नहीं हुई तो सबसे जल्दी रुद्रपुर सीट पर मेयर का फैसला हो जाएगा. इसी तरह सबसे देर से हरिद्वार की सीट पर मेयर के पद पर फैसला हो पाएगा. हमारे इस अनुमान का इसका गणित बिल्कुल साफ़ है. दरअसल रुद्रपुर मेयर सीट पर कुल वोट पड़े हैं 85 हजार और मतगणना टेबल लगाई जानी हैं 40. ऐसे में प्रति टेबल औसत होता है 2122 मतपत्र. इसी तरह हरिद्वार में कुल वोट पड़े हैं एक लाख तीस हज़ार और मतगणना टेबल लगायी गई हैं सिर्फ 20. यानि यहां प्रति टेबल औसत होता है 6509. गिने जाने वाले मतों और काउण्टिंग टेबलों की संख्या के साधारण गणित से कब किसका रिजल्ट आएगा, यह देखिए...

1- रुद्रपुर, 2- काशीपुर, 3- हलद्वानी, 4-ऋषिकेश, 5- कोटद्वार, 6- देहरादून और 7- हरिद्वार.

सब ठीक रहा तो मेयर सीट के लिए नतीजे इसी क्रम में आएंगे. गिनती शुरू होने के अगले दिन नतीजे आने के पीछे एक और भी बड़ा कारण है. मेयर और सभासद दोनों के ही वोट एक ही बक्से में डाले गए हैं. इसलिए मतगणनाकर्मी पहले तो दोनों को अलग करेंगे. इसके बाद इनके बण्डल बनाए जाएंगे और फिर गिनती शुरू होगी.

नज़ीर के तौर पर लें देहरादून को. यहां वोट पड़े हैं साढ़े तीन लाख. ऐसे में मेयर और सभासद सीट को मिला दें तो मतगणना कर्मियों को सात लाख मतपत्रों से निपटना पड़ेगा. यानि पहले उन्हें सात लाख वोटों की छंटाई करनी पड़ेगी, फिर बण्डल बनेगा और फिर गिनती शुरु होगी. इतने वोटों की छंटाई और बण्डल बनाने में ही शाम हो जाएगी. ऐसी ही स्थिति हर मेयर सीट पर होगी. लिहाज़ा नतीजे अगले दिन यानि 21 नवम्बर को ही मिल पाएंगे. तो धैर्य से करिएगा इंतजार.
Loading...

निकाय चुनाव में मतदान ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, प्रदेश भर में 69.79 फ़ीसदी मत पड़े

VIDEO: देखिए बीजेपी नेताओं की गुंडागर्दी, टोकने पर की गाली गलौच, दीं धमकियां 
First published: November 19, 2018, 3:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...