चुनाव जीतने से भी बड़ी चुनौती... कूड़े, सीवरेज, वाटर लॉगिंग से कैसे निबटें

देहरादून में राज्य के कई निकायों के मेयर और अध्यक्ष जुटे और चर्चा की कि राज्य के निकायों को कैसे बेहतर बनाया जाए.

Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: December 17, 2018, 8:15 PM IST
चुनाव जीतने से भी बड़ी चुनौती... कूड़े, सीवरेज, वाटर लॉगिंग से कैसे निबटें
देहरादून में आयोजित एक कार्यक्रम में नए अध्यक्षों ने माना कि इस समस्या के लिए सरकारी कोशिशों के साथ जन सहयोग ज़रूरी है.
Deepankar Bhatt
Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: December 17, 2018, 8:15 PM IST
निकाय चुनाव के नतीजों को एक महीना होने वाला है और नए मेयरों, अध्यक्षों ने कुर्सी संभाल ली है. कुर्सी संभालने के तुरंत बाद जिस सबसे बड़ी चुनौती से निकायों के नेता जूझ रहे हैं वो हैं कूड़े और सफ़ाई की. देहरादून में आयोजित एक कार्यक्रम में नए अध्यक्षों ने माना कि इस समस्या के लिए सरकारी कोशिशों के साथ जन सहयोग ज़रूरी है.

देहरादून में राज्य के कई निकायों के मेयर और अध्यक्ष जुटे और चर्चा की कि राज्य के निकायों को कैसे बेहतर बनाया जाए और कैसे इस काम में जनता का सहयोग लिया जाए. पूरी चर्चा में निकायों के विकास पर बात हुई लेकिन सवाल तब खड़ा हो गया जब बात कूड़े, सीवरेज और वॉटर लॉगिंग की आई. नए मेयर और पालिका अध्यक्षों ने माना कि जब तक इन समस्याओं का उपाय नहीं खोजा जाएगा आगे बढ़ना मुश्किल है, फिर बात चाहे पहाड़ की हो या मैदान की.

सेमिनार में कई सामाजिक संस्थाएं भी शामिल हुईं जिन्होंने कूड़े की समस्या दूर करने और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में काम किया है. गति फ़ाउंडेशन के चेयरमैन अनूप नौटियाल ने कहा कि जनता के सहयोग के बिना किसी भी निकाय का विकास संभव नहीं है इसलिए हर जन-प्रतिनिधि को जनता से सीधा जुड़ना होगा.

साफ है कि निकायों की चुनौती जीतने वाले इन नेताओं के सामना अब असली चुनौतियों से है. और अगर कूड़े और सफाई की समस्या को गंभीरता से नहीं लिया गया तो यह पूरे उत्तराखंड के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकती है.

VIDEO: देखिए मां के चुनाव हारने की बात सुनते ही चक्कर खाकर गिर पड़ा बेटा

उत्तराखंड निकाय चुनाव: बीजेपी-कांग्रेस को लोगों ने नकारा, निर्दलीयों ने लहराया परचम 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 17, 2018, 7:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...