निकाय चुनावः बीजेपी-कांग्रेस दोनों ने किए अपनी-अपनी जीत के दावे

राज्य में कुल 92 स्थानीय निकाय हैं. इनमें आठ नगर निगम, 41 नगर पालिका परिषद और 43 नगर पंचायतें हैं. इनमें से चार को छोड़कर 88 पर चुनाव होना है

ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 13, 2018, 1:02 PM IST
 निकाय चुनावः बीजेपी-कांग्रेस दोनों ने किए अपनी-अपनी जीत के दावे
फ़ाइल फ़ोटोः निशंक,प्रदीप टम्टा
ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 13, 2018, 1:02 PM IST
उत्तराखंड में अगले महीने प्रस्तावित निकाय चुनावों को लेकर प्रदेश की दोनों प्रमुख पार्टियां अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही हैं. कांग्रेस का मानना है कि वह निकाय चुनावों में भारी जीत दर्ज करेगी तो बीजेपी को उम्मीद है कि जिस तरीके से विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को पटखनी दी थी उसी तर्ज पर निकाय चुनावों में कांग्रेस को वह बड़े अंतर से हराएगी.

राज्य में अप्रैल में उत्तराखंड के निकाय चुनाव प्रस्तावित हैं हालांकि हाईकोर्ट ने स्थानीय निकाय विस्तार के सरकारी आदेश पर रोक लगा दी है, लेकिन सरकार का कहना है कि वह अदालत के आदेशानुसार जन सुनवाई करेगी और निकाय चुनाव समय पर होंगे. इसके साथ ही राज्य की दोनों प्रमुख पार्टियां चुनाव तैयारियों में लगी हुई हैं.

राज्य में कुल 92 स्थानीय निकाय हैं. इनमें आठ नगर निगम, 41 नगर पालिका परिषद और 43 नगर पंचायतें हैं. इनमें से चार को छोड़कर 88 पर चुनाव होना है.  बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस प्रदेश में मुकाबलने में कहीं नहीं है.

हरिद्वार से सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक दावा करते हैं कि निकाय चुनावों में पार्टी विधानसभा चुनावों से भी अधिक अंतर से जीत दर्ज करेगी. वह कहते हैं कि जनता समझ चुकी है कांग्रेस सिर्फ भ्रष्टाचार कर सकती है विकास नहीं.

वहीं, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा कहते हैं कि उत्तराखंड की जनता ने राज्य में बीजेपी सरकार को 10 महीने से अधिक और केंद्र सरकार को चार साल देख लिया है और वह झांसे में नहीं आने वाली.

टम्टा के मुताबिक कांग्रेस जमीनी स्तर पर कार्य कर रही है और बीजेपी सरकार जिन मुद्दों को लेकर सत्ता में आई उत्तराखंड सरकार ने देखा है उनमें से किसी भी मुद्दे पर काम नहीं हुआ, जिसका जवाब जनता बीजेपी को निकाय चुनाव में देगी.

(दिल्ली से वेदकांत शर्मा की रिपोर्ट)
Loading...

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->