Lockdown 4.0: उत्तराखंड में नहीं शुरू होगा पर्यटन, अबतक करोड़ों का नुकसान
Dehradun News in Hindi

Lockdown 4.0: उत्तराखंड में नहीं शुरू होगा पर्यटन, अबतक करोड़ों का नुकसान
लॉकडाउन के चलते उत्तराखंड में पर्यटन से जुड़ी गतिविधियां बंद रहेंगी

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन-4 के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. गाइडलाइन के अनुसार उत्तराखंड में पर्यटन (Tourism) और तीर्थाटन (Pilgrimage) की गतिविधियां शुरू नहीं हो सकती हैं.

  • Share this:
देहरादून. देशभर में लॉकडाउन चौथे (Lockdown-4) चरण में प्रवेश कर गया है. इसे बढ़ाकर 31 मई तक लागू कर दिया गया है. केंद्र सरकार ने लॉकडाउन-4 के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. गाइडलाइन के अनुसार प्रदेश में पर्यटन (Tourism) और तीर्थाटन (Pilgrimage) की गतिविधियां शुरू नहीं हो सकती हैं. प्रदेश सरकार ने ग्रीन जोन में पर्यटन गतिविधियां संचालित करने की अनुमति मांगी थी. वहीं, ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन तय करने का अधिकार मिलने से कोरोना रोकथाम में और फायदा मिलेगा. इसके साथ राज्य में बसों के संचालन की अनुमति मिल जाने से भी लाभ होगा. दरअसल, पिछले लॉकडाउन के तीन चरणों में राज्य को पर्यटन और तीर्थाटन की गतिविधियां बंद होने से काफी नुकसान उठाना पड़ा है. उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था में धार्मिक पर्यटन की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है.

अमर उजाला के अनुसार, प्रदेश सरकार सर्विस सेक्टर के लिए कुछ राहत मिलने की उम्मीद कर रही थी. प्रदेश के लोगों के लिए चारधाम यात्रा शुरू करने पर भी विचार किया जा रहा था. अगर केंद्र सरकार धार्मिक गतिविधियों और स्थलों को खोलने की अनुमति प्रदान करती है तो राज्य को बड़ी राहत मिल सकती थी. लेकिन केंद्र सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर 31 मई कर दी है और तब तक इन सभी गतिविधियों पर रोक बनाए रखने के निर्देश दिए हैं.

राज्य सरकार को जोन तय करने का मिला अधिकार



हालांकि सरकार को अब ग्रीन, आरेंज और रेड जोन तय करने का अधिकार मिलने से कोरोना रोकथाम में मदद मिलेगी. केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार ही राज्य सरकार जोन का निर्धारण कर सकेगी. राज्य सरकार बंद पड़ी परिवहन सेवाओं को दोबारा शुरू कर सकती है, जिससे जनता को राहत मिलेगी. इससे प्राइवेट ट्रांसपोर्ट संचालकों को भी रोजगार मिल सकता था. हालांकि आगे आने वाले समय में भी सोशल डिस्टेंसिंग के कड़े मानकों के तहत ही इसको संचालित किया जा सकेगा.
छोटे व्यापारियों को मिल सकती है राहत

इसके अलावा सरकार दुकानों को खोलने का समय बढ़ाकर छोटे व्यापारियों को राहत दे सकती है. केंद्र सरकार ने रात सात बजे से अगली सुबह सात बजे तक ही पूर्ण लॉकडाउन रखने के निर्देश दिए हैं. इन परिस्थितियों में सरकार दुकानों के खुलने के समय को बढ़ा सकती है.

उत्तराखंड कके मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए गाइडलाइन मिल गई है. इसका पूरी तरह से अनुपालन किया जाएगा. पर्यटन गतिविधियां अभी शुरू नहीं हो सकती, लेकिन जोन तय करने का अधिकार मिलने से संक्रमण रोकथाम में ज्यादा फायदा मिलेगा. बसों के संचालन को लेकर भी सरकार अपने स्तर पर विचार करेगी.

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की यह है स्थिति

उत्तराखंड में आज 17 मई तक 92 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं जिनमें से 52 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और केवल 39 मरीज ऐसे हैं जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. कोरोना संक्रमित एक महिला की एम्स ऋषिकेश में मृत्यु होगई है, हालांकि मौत का कारण ब्रेन हेमरेज था.

प्रदेश में हैं आठ हॉटस्पॉट और कंटेंनमेंट जोन

उत्तराखंड में 17 मई तक तीन जिलों में कुल 8 हॉटस्पॉट/ कंटेंनमेंट जोन हैं, जिनमें सबसे अधिक देहरादून जिले में पांच, हरिद्वार जिले में दो और एक ऊधमसिंह नगर जिले में है. हालांकि नए केस आने और पुराने ठीक होने के कारण इनमें जल्द बदलाव हो सकता है.

ये भी पढ़ें: Lockdown के चलते कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में PM मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट भी अधर...

DM का ऐलान, Lockdown 4.0 में देहरादून में लागू रहेगी पुरानी व्यवस्था
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading