लाइव टीवी

 समय कम है, चुनौती बड़ी... इस चुनावी मौसम महीने भर गड़गड़ाते रहेंगे हैलिकॉप्टर

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: March 15, 2019, 7:13 PM IST
 समय कम है, चुनौती बड़ी... इस चुनावी मौसम महीने भर गड़गड़ाते रहेंगे हैलिकॉप्टर
चुनाव प्रचार के लिए समय कम रह जाने की वजह से इस बार कांग्रेस-बीजेपी हैलिकॉप्टरों का इस्तेमाल ज़्यादा करेंगी.

भाजपा के मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन कहते हैं कि चुनाव प्रचार के लिए समय कम होने की वजह से हैलिकॉप्टर का इस्तेमाल तो करना ही पड़ेगा.

  • Share this:
उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए अब एक महीना भी नहीं बचा है. अब तक बीजेपी-कांग्रेस किसी ने भी अपने प्रत्याशियों का ऐलान नहीं किया है इसलिए चुनाव प्रचार भी ठीक से गति नहीं पकड़ पाया है. राज्य की भौगोलिक स्थिति भी ऐसी है कि स़ड़क मार्ग से जाने-जाने में समय ज़्यादा लगता है इसलिए सियासी दलों में उड़नखटोलों की मांग ज़ोर पकड़ने लगी है. ज़ाहिर है मकसद है कम समय में अधिक से अधिक क्षेत्रों तक पहुंचकर मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाना. प्रदेश स्तर पर सियासी दलों की कोशिश है कि वे अपने-अपने आलाकमान से अधिक से अधिक संसाधन मांग सकें.

विषम भौगोलिक परिस्थतियों वाले उत्तराखंड में चुनाव-प्रचार के लिए एक निश्चित समय में हर गांव तो क्या हर कस्बे तक पहुंच पाना भी आसान नहीं है. ऐसे में हैली सेवाएं वरदान साबित होती हैं. चंद घंटों के अंतराल में मैदान से लेकर पहाड़ तक पहुंचना आसान हो जाता है.

राज्य में चुनाव प्रचार के लिए अब सियासी दलों के पास एक महीने से भी कम समय बचा है अभी प्रत्याशियों के नामों पर मंथन चल रहा है और उसके बाद प्रचार की योजना बनाने, प्रचार सामग्री तैयार करने और नामांकन की प्रक्रिया होनी है. समय कम है काम ज़्यादा है इसलिए उड़कर मतदाताओं तक पहुंचने की कोशिश दोनों दलों की है.

इन दिनों दोनों पार्टियां इस हिसाब में जुटी हुई हैं कि कब, कहां, कितने हैलिकॉप्टर चाहिए होंगे. कांग्रेस की चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना कहते हैं कि राज्य के नेताओं के लिए वह 2 हैलिकॉप्टर की मांग करेंगे. दिल्ली से आने वाले राष्ट्रीय नेताओं राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह के लिए चार्टर्ड प्लेन की व्यवस्था एआईसीसी करेगी.

भाजपा के मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन कहते हैं कि चुनाव प्रचार के लिए समय कम होने की वजह से हैलिकॉप्टर का इस्तेमाल तो करना ही पड़ेगा. कम से कम में पार्टी के वरिष्ठ नेता इसके ज़रिए ही एक दिन में कई-कई सभाएं कर पाएंगे. हालांकि वह यह भी कहते हैं कि चुनाव खर्च की सीमा को ध्यान में रखकर वह योजना बनाएगी.

भाजपा ने स्टार प्रचारकों की 35 जनसभाएं और प्रदेश स्तरीय नेताओं की करीब 200 जनसभाएं करने की योजना बनाई है. फिल्हाल शनिवार को होने वाली राहुल गांधी की रैली की तैयारियों में जुटी कांग्रेस रैली के बाद ही अपने पत्ते खोलेगी. कुल मिलाकर अगले एक महीने तक ज़मीन पर चुनावी सभाओं का शोरगुल रहेगा तो आसमान में उड़नखटोले गड़गड़ाते रहेंगे.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 15, 2019, 7:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...