Home /News /uttarakhand /

साफ़-सुथरा चुनाव! यहां जानिए कितने करोड़ कैश, कितने करोड़ों के मादक पदार्थ पकड़े गए

साफ़-सुथरा चुनाव! यहां जानिए कितने करोड़ कैश, कितने करोड़ों के मादक पदार्थ पकड़े गए

चुनाव प्रचार के दौरान करोड़ों रुपये की नकदी पकड़ी गई है.

चुनाव प्रचार के दौरान करोड़ों रुपये की नकदी पकड़ी गई है.

प्रदेश भर में 33 करोड़ 65 लाख की धनराशि पकड़ी गई और अस्सी हज़ार लीटर शराब.

    चुनाव में शराब, पैसा और मादक पदार्थों का बड़े पैमाने पर प्रयोग आज भी होता है. चुनाव आयोग के आंकड़े इसकी तस्दीक करते हैं. निर्वाचन आयोग ने इस बार 249 प्लांइग स्कवैड तैनात किए थे जिसने बड़ी मात्रा में पैसे और शराब पकड़ी. दस मार्च को आचार संहिता लगने के बाद से 10 अप्रैल तक आयेाग की टीमों ने प्रदेश भर में जो कार्रवाई की उसके आंकड़े पर एक नज़र....

    प्रदेश भर में 33 करोड़ 65 लाख की धनराशि पकड़ी गई. माना जा रहा है कि यह पैसा चुनावों को प्रभावित करने के लिए जाया जा रहा था. 2017 के विधानसभा चुनाव में भी दो करोड़ चालीस लाख रूपये ज़ब्त किए गए थे.

    • आयोग की सर्विलांस टीमों ने इस दौरान 162 हथियार भी ज़ब्त किए.

    • आचार संहिता के दौरान करीब अस्सी हज़ार लीटर शराब पकड़ी गई. इसकी लागत 2 करोड़, 88 लाख से अधिक बैठती है.

    • इस दौरान 77 लाख रुपये मूल्य की चरस, स्मैक, गांजा, अफ़ीम भी पकड़ा गया.

    • इतने बड़े पैमाने पर शराब और पैंसे का पकड़ा जाना इस बात को साबित करता है कि तमाम जागरूकता अभियानों के बावजूद चुनाव में शराब और पैसे का प्रचलन कम नहीं हुआ है.


    VIDEO: प्रचार का समय कम मिलने से नहीं हुई परेशानी, पांचों सीट जीतेगी बीजेपी- सीएम

    लोकसभा चुनाव 2019 - स्ट्रांग रूम में रखे जाएंगे ईवीएम, थ्री लेयर होगी सुरक्षा


    Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Dehradun news, State Election Commission, Uttarakhand Lok Sabha Elections 2019, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर