Home /News /uttarakhand /

Loksabha Election Results 2019: इन 16 सीटों में है कांग्रेस के लिए ख़ुशख़बरी, बीजेपी के लिए चिंता

Loksabha Election Results 2019: इन 16 सीटों में है कांग्रेस के लिए ख़ुशख़बरी, बीजेपी के लिए चिंता

16 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस को 2017 के मुकाबले ज्यादा वोट मिले हैं.

16 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस को 2017 के मुकाबले ज्यादा वोट मिले हैं.

2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिले वोटों की इस चुनाव से तुलना करें तो पार्टी को 16 विधानसभा सीटों पर ज्यादा वोट मिले हैं.

लोकसभा चुनाव में बम्पर जीत से भाजपा भले ही इठला रही हो और कांग्रेस की हालत पस्त हो, लेकिन तस्वीर पूरी तरह ब्लैक-एंड वाइट भी नहीं है. उत्तराखण्ड की 70 में से 16 विधानसभाएं ऐसी हैं जिनके रिज़ल्ट जानकर भाजपा नेताओं के माथे पर बल पड़ जाएगा और इनसे कांग्रेसी नेताओं को थोड़ी तसल्ली मिल सकती है.

Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: जानिए कौन से मिथक तोड़े ऐतिहासिक जनादेश ने

उत्तराखण्ड में कांग्रेस को एक भी सीट नसीब नहीं हुई. सिर्फ़ इतना ही नहीं उसका वोट शेयर भाजपा से आधा ही रह गया है लेकिन इस बुरी हार में भी 16 विधानसभाओं में कांग्रेस की उम्मीदें ज़िन्दा हैं. यहां पार्टी ने अपने पैर मजबूत किए हैं. लोकसभा की एक सीट कई विधानसभाओं से मिलकर बनती है और वोटों की गिनती भी विधानसभावार होती है. उत्तराखण्ड में 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिले वोटों की यदि इस बार के चुनाव से तुलना करें तो उसे 16 विधानसभा सीटों पर 2017 के मुकाबले ज्यादा वोट मिले हैं यानि पार्टी न सिर्फ ज़िन्दा है बल्कि उसके रहनुमा इससे खुश भी हो सकते हैं.

Uttarakhand Election Results 2019: बीजेपी-कांग्रेस के अलावा नहीं बची किसी की जमानत

कांग्रेस की बढ़त वाली यह सीटें गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक हैं. गढ़वाल में केदारनाथ, सहसपुर, रायपुर, ज्वालापुर, पिरान कलियर, मंगलौर, लक्सर और हरिद्वार ग्रामीण हैं. इसी तरह कुमाऊं में बागेश्वर, लालकुंआ, नैनीताल, कालाढ़ुंगी, रामनगर, बाजपुर, गदरपुर और सितारगंज हैं.

देहरादून की सहसपुर विधानसभा की बात करते हैं जो टिहरी लोकसभा सीट के अंतर्गत आती है. सहसपुर में 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 25192 वोट मिले थे. इस बार कांग्रेस ने सहसपुर में 37621 वोट हासिल किए हैं, यानि 12000 से ज्यादा की बढ़त. इसी तरह पिरान कलियर में 10334,  ज्वालापुर में 11192, हरिद्वार ग्रामीण में 2399 वोट कांग्रेस को 2017 की तुलना में ज्यादा मिले हैं. गढ़वाल में केदारनाथ, रायपुर, मंगलौर और लक्सर ऐसी ही विधानसभाएं हैं जहां कांग्रेस को इस बार ज्यादा वोट मिले हैं.

Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: जानिए क्यों ख़ास रहा पौड़ी का चुनाव, क्या फ़र्क है तीरथ-मनीष में

कुमाऊं की बात करें तो मंत्री अरविंद पाण्डेय की विधानसभा गदरपुर में कांग्रेस को 2017 की तुलना में इस बार 9709 वोट ज्यादा मिले हैं. इसी तरह नैनीताल, बागेश्वर, लालकुंआ, कालाढ़ुंगी, रामनगर, बाजपुर, और सितारगंज हैं. इन सभी विधानसभाओं में कांग्रेस को 2017 के मुकाबले 2019 में ज्यादा वोट मिले हैं.

Uttarakhand Loksabha Election Results 2019: चुनावों में भी साथ नहीं आ पाए कांग्रेसी, इसलिए हुआ बंटाधार

गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक सीटों की ये संख्या 16 बैठती है. इन 16 विधानसभाओं में से 13 पर भाजपा का कब्जा है. सिर्फ 3 विधानसभाएं केदारनाथ, पिरान कलियर और मंगलौर में कांग्रेस के विधायक हैं. इन तीनों पर कांग्रेस का वोट बढ़ा है तो यह समझ में आता है कि विधायक अभी भी प्रभावी हैं लेकिन जिन सीटों पर भाजपा के विधायक हैं वहां कांग्रेस का वोट बढ़ना चौंकाने वाला है. इन 13 सीटों पर तो कांग्रेस का प्रतिनिधित्व ही नहीं है तो फिर वहां पार्टी की साख पहले से कैसे बढ़ी? यह सवाल भाजपा के लिए चिन्ता का सबब हो सकता है और कांग्रेस के लिए संजीवनी.

उत्तराखंड: कांग्रेस का दावा- 2022 में हम ही आएंगे, बीजेपी बोली- फिर करेंगे सूपड़ा साफ

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

Tags: Lok Sabha Election Result 2019, Uttarakhand BJP, Uttarakhand Congress, Uttarakhand Lok Sabha Elections 2019, Uttarakhand news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर