होम /न्यूज /उत्तराखंड /

देहरादून में इस जगह है 150 साल पुराना बड़ा हनुमान मंदिर, यहां स्वयं प्रकट हुए थे पवनपुत्र!

देहरादून में इस जगह है 150 साल पुराना बड़ा हनुमान मंदिर, यहां स्वयं प्रकट हुए थे पवनपुत्र!

Bada Hanuman Temple in Dehradun: देहरादून में 150 साल से भी ज्यादा पुराना हनुमान मंदिर हैं. इसे बड़ा हनुमान मंदिर कहा जाता है. इस मंदिर की विशेषता यह है कि ये दक्षिणमुखी है.

रिपोर्ट-हिना आज़मी

देहरादून. हिंदू धार्मिक मान्यता के अनुसार, जब कोई व्यक्ति बुरी शक्तियों से परेशान होता है या किसी भी संकट में होता है, तो पवनपुत्र हनुमान की आराधना से वह हर संकट से पार पा सकता है. बजरंगबली सभी संकटों को हर कर शारीरिक बल, सद्बुद्धि और ज्ञान प्रदान करते हैं. अपने भक्तों के दुखों व दोषों का नाश करते हैं. आज हम देहरादून के ऐसे ही एक हनुमान मंदिर के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जो 150 साल से भी ज्यादा पुराना है. इसे बड़ा हनुमान मंदिर (Bada Hanuman Temple in Dehradun) कहा जाता है. इस मंदिर की विशेषता यह है कि यह दक्षिणमुखी है और कई वर्षों से यहां लोग अपनी मनोकामना लेकर आते हैं.

ऐसी मान्यता है कि जो कोई व्यक्ति पूरी श्रद्धा से पवनपुत्र हनुमान की स्तुति करता है, बजरंगबली उस पर अपनी कृपा बरसाते हैं. वैसे तो देहरादून में ऐसे कई हनुमान मंदिर हैं, जिसके दर्शन मात्र से ही सारे संकट दूर हो जाते हैं लेकिन देहरादून के डीएवी कॉलेज रोड स्थित बड़ा हनुमान मंदिर पिछले 150 से ज्यादा वर्षों से यहां आस्था का प्रतीक बना हुआ है. कहा जाता है कि यहां हनुमान जी संकटमोचन रूप में विराजमान हैं.

85 वर्षीय पंडित हर प्रसाद मिश्रा ने बताया कि उनके परदादा पंडित शिवदयाल मिश्रा वर्ष 1870-80 के दशक से यहां हनुमान जी की सेवा में लग गए थे. उन्होंने बताया कि यहां हनुमान जी स्वयंभू हैं. सबसे पहले यहां एक छोटा सा मंदिर होता था और खेत हुआ करते थे, जहां मजदूर भी रह लेते थे. उसके बाद पूरन सिंह नेगी की आर्थिक सहायता के बाद मंदिर का निर्माण करवाया गया. मंदिर में शंकर भगवान की मूर्ति भी स्थापित की गई. इसके बाद धीरे-धीरे सभी भगवानों की मूर्ति यहां विराजमान हुई.

बड़ा हनुमान मंदिर आईं श्रद्धालु अनीता का कहना है कि हनुमान संकटमोचक हैं. वह सबके दुखहर्ता हैं. यहां सबकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. वहीं, श्रद्धालु हिमांशु धीमान ने बताया कि वह बचपन से हनुमान जी के भक्त हैं. वह हर मंगलवार को इस मंदिर में बजरंग बली के दर्शन करने आते हैं.

हनुमान मंदिर में आरती का समय
बड़े हनुमान मंदिर में प्रतिदिन प्रातः 5:30 बजे आरती होती है. जबकि मंदिर में रोजाना रात्रि 9 बजे आरती और हनुमान चालीसा का पाठ होता है. प्रत्येक मंगलवार को विशेष आरती शाम 7:30 बजे होती है. इस मंदिर में ऑनलाइन आरती की सुविधा उपलब्ध नहीं है. आप दिए गए वक्त पर जाकर आरती में शामिल हो सकते हैं.

कैसे पहुंचे बड़ा हनुमान मंदिर?
देहरादून के इस बड़े हनुमान मंदिर में पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले सर्वे चौक जाना होगा और यहां से आप डीएवी पीजी कॉलेज रोड पर जाएं, जहां यह मंदिर स्थित है. सम्पर्क सूत्र- पंडित विशाल मिश्रा- 09897671294

Hanuman Mandir

हनुमान जी की आरती;

आरती कीजै हनुमान लला की ।दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥

जाके बल से गिरवर काँपे ।रोग-दोष जाके निकट न झाँके ॥अंजनि पुत्र महा बलदाई ।संतन के प्रभु सदा सहाई ॥आरती कीजै हनुमान लला की ॥

दे वीरा रघुनाथ पठाए ।लंका जारि सिया सुधि लाये ॥लंका सो कोट समुद्र सी खाई ।जात पवनसुत बार न लाई ॥आरती कीजै हनुमान लला की ॥

लंका जारि असुर संहारे ।सियाराम जी के काज सँवारे ॥लक्ष्मण मुर्छित पड़े सकारे ।लाये संजिवन प्राण उबारे ॥आरती कीजै हनुमान लला की ॥

पैठि पताल तोरि जमकारे ।अहिरावण की भुजा उखारे ॥बाईं भुजा असुर दल मारे ।दाहिने भुजा संतजन तारे ॥आरती कीजै हनुमान लला की ॥

सुर-नर-मुनि जन आरती उतरें ।जय जय जय हनुमान उचारें ॥कंचन थार कपूर लौ छाई ।आरती करत अंजना माई ॥आरती कीजै हनुमान लला की ॥

जो हनुमानजी की आरती गावे ।बसहिं बैकुंठ परम पद पावे ॥लंक विध्वंस किये रघुराई ।तुलसीदास स्वामी कीर्ति गाई ॥

आरती कीजै हनुमान लला की ।दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥

(नोट- इसमें दी गई सभी जानकारियां और तथ्य मान्यताओं के आधार पर हैं, NEWS 18 LOCAL किसी भी तथ्य की पुष्टि नहीं करता. )

Tags: Dehradun news, Lord Hanuman

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर