डोईवाला हत्याकांड: जिस बेटे के इलाज के लिए बेची ज़मीन, उसे क्यों मारा मान सिंह ने?

बच्चों पर मान सिंह जान छिड़कता था और अपनी ज़िंदगी में उसने कभी हाथ न उठाया था.

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: July 30, 2019, 7:43 PM IST
डोईवाला हत्याकांड: जिस बेटे के इलाज के लिए बेची ज़मीन, उसे क्यों मारा मान सिंह ने?
मान सिंह ने अपने तीनों बच्चों और बीवी को डंडे से बुरी तरह पीटा. दो बच्चों की मौत हो गई है और बेटी गंभीर है. (घर में लगी फ़ोटो)
satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: July 30, 2019, 7:43 PM IST
देहरादून के डोईवाला क्षेत्र के नागल गांव में आज मौत का सन्नाटा पसरा हुआ है. यहां रहने वाला मान सिंह ने न जाने किस सनक में ऐसी ख़ौफ़नाक वारदात को जन्म दिया कि लोग उसके बारे में बात करते हुए भी सिहर उठते हैं. अपने कलेजे के टुकड़ों को मान सिंह ने डंडों से पीटकर मौत के घाट उतार दिया. वह बच्चे जिन पर मान सिंह जान छिड़कता था और अपनी ज़िंदगी में उसने कभी हाथ न उठाया था. हां, पिछले कुछ समय से वह मानसिक रूप से बीमार था लेकिन अचानक ऐसा क्या हो गया कि वह अपने परिवार का दुश्मन हो गया. मान सिंह के पड़ोसी यह सोचकर परेशान हैं.

बच्चों पर जान छिड़कता था मान सिंह 

डोईवाला क्षेत्र के नागल गांव में रहने वाला 45 वर्षीय मान सिंह पेशे से ड्राइवर था. वह पिछले कुछ समय से डिप्रेशन का शिकार था. डिप्रेशन की वजह भी कुछ अजीब थी और वह यह कि उसके दो नाम थे. भूमि अभिलेख में उसका नाम राम सिंह था और बाकी सभी दस्तावेज़ों में मान सिंह. इसकी वजह से वह डिप्रेशन में था और उसका इलाज चल रहा था.

मान सिंह के पड़ोसी कहते हैं बीमारी के बावजूद मान सिंह एक अच्छे पड़ोसी थे. न आस-पड़ोस, न परिवार, किसी को उनसे शिकायत नहीं थी. बच्चों पर तो वह जान छिड़कते थे. सबसे बड़े बेटे के दिल में पैदाइश से ही छेद था. उसे ठीक करने के लिए मान सिंह न सिर्फ़ देहरादून-चंडीगढ़ के अस्पतालों के चक्कर काटे बल्कि अपनी ज़मीन का एक टुकड़ा तक बेच डाला.

सोते हुए मासूमों पर डंडे से प्रहार 

उसी बेटे समेत अपने दो और बच्चों, बीवी को मान सिंह ने बेरहमी से डंडे से वार कर मार डाला. पड़ोसियों के अनुसार सबह करीब छह बजे जब सारा परिवार नींद के आगोश में था तब मान सिंह ने उन पर डंडों से प्रहार किए. परिवार पर हमला करने के बाद मान सिंह ने खुद भी फ़ांसी लगा ली.

family murderd doiwala, बीवी बच्चों के साथ मान सिंह.
बीवी बच्चों के साथ मान सिंह.

Loading...

शोर सुनकर थोड़ी देर में पड़ोसी पहुंचे तो उन्होंने मानसिंह समेत सबको अस्पताल पहुंचाया. पिता के हमले में 7 साल की मुस्कान और 14 साल के विनय की मौत हो गई. 13 साल की बेटी भूमिका और पत्नी रीना अस्पताल में ज़िंदगी और मौत से जूझ रही हैं.

ज़िंदा है मानसिंह

मान सिंह भी अस्पताल में भर्ती है लेकिन ख़तरे से बाहर है. डॉक्टरों के अनुसार मान सिंह को अभी निगरानी में रखा जाएगा क्योंकि अभी उसकी मानसिक स्थिति बिल्कुल ठीक नहीं है. उसे अभी दौरे पड़ रहे हैं.

राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015-16 के अनुसार, भारत की 18 वर्ष से अधिक 10.6 प्रतिशत आबादी यानी करीब 15 करोड़ लोग किसी न किसी मानसिक रोग से पीड़ित हैं. हर छठे भारतीय को मानसिक स्वास्थ्य के लिए मदद की दरकार है लेकिन त्रासदी यह है कि भारत में मानसिक रोग को अब भी बहुत गंभीरता से नहीं लिया जाता है. 99 फ़ीसदी मानसिक रोगी इलाज को ज़रूरी नहीं मानते. यह कितना ख़तरनाक हो सकता है इसे आज डोईवाला में मान सिंह ने अपने ही दो बच्चों की हत्या कर और बाकी परिवार को गंभीर रूप से घायल कर बता दिया है.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

सनकी आदमी ने पीट-पीटकर की अपने दो बच्चों की हत्या... बीवी-बेटी गंभीर, खुद भी अस्पताल में भर्ती 

अतिक्रमण हटाने गए हरिद्वार SDM पर भीड़ ने किया हमला 
First published: July 30, 2019, 7:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...