अपना शहर चुनें

States

इंतजार करते रह गए मनीष सिसोदिया, नहीं पहुंचे मदन कौशिक, AAP नेता बोले- चर्चा से भाग रही BJP

मनीष सिसोदिया आज देहरादून के आईआरडीटी ऑडिटोरियम पर उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का इंतजार करते रहे लेकिन मदन कौशिक नहीं पहुंचे.
मनीष सिसोदिया आज देहरादून के आईआरडीटी ऑडिटोरियम पर उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का इंतजार करते रहे लेकिन मदन कौशिक नहीं पहुंचे.

Uttarakhand Election Politics: आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) का दावा, उत्तराखण्ड में आप और बीजेपी (BJP) के बीच में होगा 2022 का विधानसभा चुनाव.

  • Share this:
देहरादून. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) आज देहरादून के आईआरडीटी ऑडिटोरियम पर उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक (Madan Kaushik) का इंतजार करते रहे, लेकिन कौशिक नहीं पहुंचे. मनीष सिसोदिया ने उनके न आने पर खेद जताया और कहा कि अब वह दिल्ली में 6 तारीख को मदन कौशिक के आने का इंतज़ार करेंगे. सिसोदिया ने दावा किया कि उत्तराखंड में चुनावी टक्कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और आम आदमी पार्टी (AAP) के बीच होगी. उन्होंने कहा कि जल्द ही अरविंद केजरीवाल उत्तराखंड में पार्टी का चेहरा बनने वाले व्यक्ति को सामने लाएंगे.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने दावा किया कि बीजेपी के पास गिनाने के लिए काम नहीं है इसीलिए वह चर्चा से भाग रही है. उत्तर प्रदेश में भी यही हुआ था और अब उत्तराखंड में यही हो रहा है. इसलिए आम आदमी पार्टी सभी 70 सीटों के लिए चुनाव (Uttarakhand Assembly Election) लड़ने की तैयारी में है.

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी का चेहरा कौन होगा, इसे लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में मनीष सिसोदिया का कहना है कि अरविंद केजरीवाल खुद उस चेहरे को जनता के सामने लेकर आएंगे. वह चेहरा उत्तराखंड का ही होगा और ऐसा होगा जिस पर उत्तराखंडवासियों को भी गर्व होगा.

उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी बहुमत के साथ सरकार बनाने का दावा कर रही है. सिसोदिया ने साफ़ किया कि पार्टी का मकसद शिक्षा, स्वास्थ्य को लेकर काम करना रहेगा. उन्होंने दावा किया कि 20 साल से उत्तराखंड की जनता जिन मुद्दों को लेकर जूझ रही है, आम आदमी पार्टी उन्हीं मुद्दों पर काम करेगी. आपको बता दें कि दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और यूपी के शिक्षा मंत्री के बीच भी कुछ दिन पहले शिक्षा के मुद्दे पर बहस की चर्चा छिड़ी थी. उस समय भी मनीष सिसोदिया ने लखनऊ जाकर BJP सरकार के कैबिनेट मंत्री को बहस की चुनौती दी थी, लेकिन लखनऊ में भी मंत्री नहीं पहुंचे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज