शीशमबाड़ा में चार और ठेकेदारों को काम पर लगाया निगम ने

satendra bartwal | News18India
Updated: November 14, 2017, 7:20 PM IST
शीशमबाड़ा में चार और ठेकेदारों को काम पर लगाया निगम ने
file photo: shishambara waste mangaement plant
satendra bartwal | News18India
Updated: November 14, 2017, 7:20 PM IST
देहरादून में बनने वाला शीशमबाड़ा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट की डेडलाइन फिर नज़दीक आ गई है और वहां काम की रफ़्तार देखकर लगता नहीं कि यह समय पर पूरा हो पाएगा. मेयर विनोद चमोली कहते रहे हैं कि उन्होंने इस प्लांट को शुरू करवाने के लिए बहुत मेहनत की है. अब वह इसे पूरा करवाने के लिए भी कमर कस चुके हैं.

मेयर ने प्लांट का काम अब खुद अपने हाथों में लेने का ऐलान किया है. शीशमबाड़ा में प्लांट का काम तय समयसीमा में पूरा हो सके इसके लिए चार ठेकेदारों को नियुक्त किया गया है.

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार देहरादून नगर निगम को एक दिसंबर से देहरादून का कूड़ा शीशमबाड़ा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट में ही डालना है.

चमोली ने 12 अक्टूबर को भी प्लांट का दौरा कर काम की प्रगति का जायज़ा लिया था. तब सिर्फ़ 60 फ़ीसदी काम हुआ था. हालांकि प्रोजेक्ट बना रही कंपनी रैमकी का कहना था कि वह तय समय में काम पूरा कर लेगी.

शीशमबाड़ा प्लांट तैयार न होने की वजह से अब तक कूड़ा सहस्रधारा ट्रंचिंग ग्राउंड में डाला जा रहा है और पिछले साल इसका भारी विरोध भी हुआ था. आखिर सुप्रीम कोर्ट से नगर निगम को राहत मिली थी और इस महीने की 30 तारीख तक की मोहलत मिली थी. अगर इस तारीख के बाद भी शीशमबाड़ा प्लांट शुरू नहीं हो पाता तो देहरादून नगर निगम के लिए जवाब देना मुश्किल हो जाएगा.

इसीलिए मेयर ने चार और ठेकेदारों को काम पर लगाया है ताकि समय पर प्लांट तैयार हो सके. उन्होंने कहा कि रैमकी कंपनी के लिए निर्धारित बजट से इन ठकेदारों को पैसा दिया जाएगा.

 
First published: November 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर