Home /News /uttarakhand /

metro rail project for dehradun about to approve know what ukmrc hoping and planning

Metro Neo Project: क्या लंबे इंतजार के बाद दून में दौड़ेगी मेट्रो? दून के बाद कहां है मेट्रो की तैयारी?

Exclusive Report: देहरादून में कई सालों से मेट्रो की प्लानिंग है, लेकिन इसमें अड़ंगे भी कम नहीं रहे. हालांकि अब जिस प्रोजेक्ट को लेकर बड़ी उम्मीद जागी है, बताया जा रहा है कि वह देश में अपनी तरह का पहला ट्रांसपोर्ट सिस्टम होगा. यही नहीं, दून के बाद और भी मैदानी इलाकों में विस्तार के इरादे हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी में मेट्रो चलाने की कवायद पिछले 6 सालों से चल रही है, लेकिन आखिरकार अब इसके अंजाम पर पहुंचने की उम्मीद जागी है. इस साल अक्टूबर तक देहरादून को एक नए ट्रांसपोर्ट सिस्टम मेट्रो नियो या ट्राम (Tram) की सौगात मिल सकती है. राज्य सरकार से इस प्रोजेक्ट को मंज़ूरी मिलने के बाद इसे केंद्र सरकार के अप्रूवल के लिए भेजा गया है और मेट्रो प्रोजेक्ट के आला अधिकारी पूरी उम्मीद जताने के साथ ही उत्साह के साथ ये भी बता रहे हैं कि इसके बाद हरिद्वार और ऋषिकेश में किस तरह के प्लान पाइपलाइन में आने वाले हैं.

देहरादून में ट्रैफिक के बढ़ते दबाव के मद्देनज़र 6 साल पहले मेट्रो लॉन्च करने की योजना बनाई गई थी. कई कारणों के चलते यह धरातल पर नहीं उतर पाई. अब मेट्रो का छोटा रूप मेट्रो नियो अथवा ट्राम चलाने की तैयारी है. मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के एमडी जितेंद्र त्यागी ने न्यूज़18 के साथ बातचीत में बताया कि करीब 1852 करोड़ के 22 किलोमीटर लंबे रूट प्रोजेक्ट को राज्य सरकार ने मंजूरी के लिए केंद्र को भेजा है. केंद्र ने इसका परीक्षण करने की क्वेरी लगाई थी, इसका भी जवाब केंद्र भेजा जा चुका है. अब उम्मीद की जा रही है कि अक्टूबर तक इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को केंद्र हरी झंडी दे सकता है.

देहरादून में मेट्रो नियो के दो कॉरीडोर होंगे
पहला कॉरीडोर – ISBT से सहारनपुर रोड, पथरीबाग, गांधी रोड से परेड ग्राउंड तक होगा
दूसरा कॉरीडोर – FRI मेन गेट से घंटाघर, ईसी रोड, रिस्पना ब्रिज, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री और रायपुर सिटी बस अड्डे तक होगा.

दून मेट्रो के बाद ये प्रोजेक्ट भी हैं तैयार
हरिद्वार में वैकल्पिक ट्रांसपोर्ट के रूप में पॉड टैक्सी चलाने के प्रोजेक्ट को उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने मंजूरी दे दी है. अब इसे फाइनल सेंक्शन के लिए शासन को भेजा जा रहा है. त्यागी के मुताबिक पीपीपी मोड पर बनने वाले इस प्रोजेक्ट के लिए हरिद्वार में करीब 23 किलोमीटर लंबा ट्रेक बनाया जाएगा. इसके अलावा कॉरपोरेशन हरिद्वार में हर की पौड़ी से चंडी देवी तक रोपवे भी लगाने जा रहा है.

क्या हरिद्वार के बाद भी कोई प्लान है?
योजना है कि देहरादून में मेट्रो नियो और हरिद्वार में पॉड टैक्सी ट्रांसपोर्ट सिस्टम पर अगले साल से काम शुरू कर दिया जाए. सब कुछ योजनाबद्ध ढंग से चला तो 2027 में आप मेट्रो नियो में सफ़र कर रहे होंगे. ये दोनों ट्रांसपोर्ट सिस्टम देश में पहली बार यहीं नज़र आएंगे. दून और हरिद्वार के प्रोजेक्टों के धरातल पर आते ही कॉरपोरेशन आने वाले दिनों में पंतनगर जैसे मैदानी इलाकों के लिए भी मेट्रो नियो के प्लान को लेकर आशावादी है.

Tags: Metro project, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर