Home /News /uttarakhand /

मंत्री हरक सिंह रावत ने पहले दिया आपत्तिजनक बयान, वीडियो वायरल हुआ तो दी सफाई

मंत्री हरक सिंह रावत ने पहले दिया आपत्तिजनक बयान, वीडियो वायरल हुआ तो दी सफाई

हरक सिंह रावत: फाइल फोटो

हरक सिंह रावत: फाइल फोटो

Minister Harak Singh Rawat: एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा, 'आज राज्य के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की आत्मा रोती होगी कि हमने इन बेवकूफों के हाथों में उत्तराखंड सौंप दिया.' बीजेपी ने बयान को अनुशासनहीनता करार दिया.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत का एक बयान फिर चर्चा का विषय बना हुआ है. एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि ‘आज राज्य के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की आत्मा रोती होगी कि हमने इन बेवकूफों के हाथों में उत्तराखंड सौंप दिया.’ इस बयान का वीडियो वायरल हुआ तो सरकार और संगठन दोनों इस पर हैरान रह गए. बीजेपी ने तुरंत इस पर सफाई दी और कहा कि यह अनुशासनहीनता है. वहीं दूसरी ओर, कांग्रेस ने मंत्री के बयान पर गंभीर आपत्ति जताई.

दरअसल, एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि आज राज्य के लिए प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की आत्मा रोती होगी कि हमने इन बेवकूफों के हाथों में उत्तराखंड सौंप दिया. हालांकि अब अपने बयान पर सफाई देते हुए हरक सिंह रावत का कहना है कि उनका ये बयान समझने में लोग भूल कर रहे हैं. हरक सिंह ने कहा कि जिन बेवकूफों की मैंने बात की उसमें वो खुद भी शामिल हैं. इसमें न सिर्फ सरकारें, बल्कि प्रदेशवासी भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि जिस उम्मीद के साथ अलग राज्य बनाया गया था, वो उम्मीद आज तक पूरी नहीं हो पाई और पहाड़ी प्रदेश के पहाड़ आज खाली हो चुके हैं.

प्रभारी बोले- हरक को छोटे बच्चे की तरह डांटेंगे

हरक सिंह के बयान पर भाजपा प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम ने कहा है कि हरक का बयान अनुशासनहीनता है. जैसे प्यारे बच्चे को डांटा जाता है, उसी तरह हरक सिंह रावत को भी डांटेंगे. वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा है कि मैंने हरक सिंह रावत से इस बारे में बात की है. हरक से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके बयान को पूरे परिप्रेक्ष्य में नहीं देखा गया. इसे गलत ढंग से प्रचारित किया गया.

Tags: Madan Kaushik, Minister Harak Singh Rawat, Uttarakhand news, Uttarakhand politics

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर