Home /News /uttarakhand /

ट्रेकर सर्च अभियान : 15,000 फीट की ऊंचाई पर बर्फ में जिंदा मिले दो ट्रेकर्स, SDRF ने किया रेस्क्यू

ट्रेकर सर्च अभियान : 15,000 फीट की ऊंचाई पर बर्फ में जिंदा मिले दो ट्रेकर्स, SDRF ने किया रेस्क्यू

सर्वाइवर ट्रेकरों को अस्पताल पहुंचाया गया.

सर्वाइवर ट्रेकरों को अस्पताल पहुंचाया गया.

Trekkers Rescue Operation : एसडीआरएफ ने हर्षिल में 11 सदस्यों वाले ट्रेकिंग दल के दो ट्रेकरों को रेस्क्यू कर मेडिकल सहायता के लिए पहुंचाया. अभी सर्च और रेस्क्यू अभियान खत्म नहीं हुआ है क्योंकि ट्रेकिंग दल के 4 लोग अब भी लापता हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. स्टेट डिजास्टर रिलीफ फोर्स, एसडीआरएफ को बड़ी सफलता हाथ लगी है. उत्तराखंड के सीमांत उत्तरकाशी ज़िले के हर्षिल से लमखागा पास होते हुए छितकुल हिमाचल ट्रेक पर ट्रेकिंग के लिए गए 8 पर्यटकों समेत 11 लोग लापता हो गए थे, जिनकी तलाश में एसडीआरएफ टीम द्वारा सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. इस कठिन ऑपरेशन में बड़ी सफलता हासिल करते हुए एसडीआरएफ ने ट्रेकिंग दल के दो लोगों को बचा लिया और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पंद्रह हज़ार फीट के इस हाई एल्टीट्यूड ट्रेक पर एसडीआरएफ की टीम द्वारा हेलीकॉप्टर से सर्चिंग की गई. हवाई सर्चिंग के दौरान टीम को लापता ट्रेकर्स दिखाई दिए. टीम द्वारा बर्फ में हेलीकॉप्टर से उतरकर पैदल सर्चिंग शुरू की गई. शरीर को जमा देने वाली ठंड, बर्फीली हवाओं और बर्फ की मोटी चादर से बेपरवाह एसडीआरएफ के जवानों के हाथ तब बड़ी सफलता लगी, जब उन्हें दो ट्रेकर्स ज़िंदा नज़र आए. इनमें से एक को गुरुवार को सकुशल रेस्क्यू करते हुए हेली से पहले हर्षिल आर्मी अस्पताल और फिर जिला चिकित्सालय उत्तरकाशी लाया गया.

uttarakhand news, glacier accident, trekkers missing, trekking team missing, uttarakhand trekking, himachal pradesh trekkers, उत्तराखंड ताजा समाचार, ग्लेशियर हादसा, ट्रेकरों की मौत

उत्तराकाशी के हर्षिल में ट्रेकरों को खोजने का हवाई सर्च अभियान चल रहा है.

वहीं, दूसरा सरवाइवर पैदल गई एसडीआरएफ टीम के साथ सुरक्षित कैम्प में ही है. एसडीआरएफ की ग्राउंड रेकी टीम करीब 5000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित लमखागा पास में कैम्प किए हुए है. टीम द्वारा कैम्प में ही उसे फर्स्ट एड दिया गया. इस दौरान पांच ट्रेकरों के शव भी रिकवर किए गए. शुक्रवार सुबह कैंप से इस घायल ट्रेकर को भी रेस्क्यू कर लिया गया है. ट्रेकर के साथ ही एसडीआरएफ एक शव को लाने में भी कामयाब रही है.

गौरतलब है कि वेस्ट बंगाल और दिल्ली के ट्रेकरों का यह दल 14 अक्टूबर को उत्तरकाशी के हर्षिल से कुल 17 सदस्यों के साथ ट्रेक पर निकला था. इस बीच, 17 अक्टूबर को मौसम खराब होने और भारी बर्फबारी होने के कारण ये दल फंस गया था. दल में शामिल 6 पोर्टर तो किसी तरह बचकर हिमाचल पहुंच गए, लेकिन तीन पोर्टर समेत शेष 11 मेंबर बर्फबारी में फंस गए. जिनमें से दो लोग जीवित रिकवर कर लिए गए, जबकि पांच के शव बरामद हुए हैं. शेष लापता ट्रेकरों को खोजने व शवों को नीचे लाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन अभी जारी है.

Tags: Snowfall in Uttarakhand, Trekker-Porter Incident, Uttarakhand news, Uttarkashi Heavy Snowfall

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर