मॉनसून दस्तक देने को तैयार और इधर चल रही है सड़कों पर खुदाई... जानलेवा साबित न हो यह लापरवाही
Dehradun News in Hindi

मॉनसून दस्तक देने को तैयार और इधर चल रही है सड़कों पर खुदाई... जानलेवा साबित न हो यह लापरवाही
देहरादून समेत प्रदेश के कई ज़िलों में लगातार सड़क बनाने से लेकर सड़कों के किनारे पानी की पाइप लाइन और लीज़ लाइन बिछाने का काम चल रहा है.

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मॉनसून सीजन से ठीक पहले इस तरह का काम सिर्फ़ सरकारी पैसे का नुकसान हैं.

  • Share this:
देहरादून. मॉनसून उत्तराखंड में दस्तक देने को तैयार है हालांकि बारिश का सिलसिला पिछले कुछ समय से रुक-रुक कर जारी ही है. मॉनसून सीजन से पहले यूं तो नालों, सड़कों, तालाबों की साफ़-सफ़ाई का काम किया जाता है ताकि बरसात का पानी रुके न, जमा न हो. इसके विपरीत देहरादून समेत प्रदेश के कई ज़िलों में लगातार सड़क बनाने से लेकर सड़कों के किनारे पानी की पाइप लाइन और लीज़ लाइन बिछाने का काम चल रहा है. मॉनसून सीज़न में इस तरह के निर्माण कार्य आम लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं क्योंकि लगातार सड़कों पर चल रहे काम की वजह से सड़कें जगह-जगह खुदी हुई हैं जो दुर्घटना की वजह बन सकती हैं.

इसलिए चल रही है खुदाई

देहरादून में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट और कई दूसरी संस्थाएं सड़क के किनारे खुदाई का काम कर रही हैं. इसके साथ ही हरिद्वार-देहरादून नेशनल हाइवे, चारधाम मार्ग परियोजना के साथ ज़िलों में सड़क बनाने का काम चल रहा है. डेडलाइन के दबाव में यह काम मॉनसून सिर पर आने के बावजूद जारी है.



इसके अलावा एक वजह और है. दरअसल पिछले 22 मार्च से लॉकडाउन के कारण इन सारे कामों पर रोक लगी हुई थी और काम करने की छूट मिलते ही तेज़ी से काम शुरु कर दिया गया है.
जानलेवा हो सकते हैं ये गड्ढे

हालांकि जिस तरीके से काम किया जा रहा है उसे देखकर नहीं लगता है कि यह काम जल्द पूरा हो पाएगा. अलबत्ता इस काम की वजह से मॉनसून सीजन में सड़क पर चलना लोगों के लिए मुश्किल साबित हो रहा है जो बारिश होने के बाद जानलेवा हो सकता है.

पिछले सालों में खराब सड़कों और सड़कों में खुदे खड्ढों की वजह से कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था और सरकार ने कहा था कि जिस भी डिपार्टमेंट की गलती होगी उस पर हत्या का मुकदमा चलाया जाएगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं. दुर्घटनाएं होती रहीं और सरकार मुंह फेरकर बैठी रही.

सड़कों पर हुई खुदाई बारिश में इन सड़कों को तालाब में बदल देती हैं. इससे गाड़ियां संभलकर चलती हैं और यातायात बाधित होता है और गाड़ियां जहां-तहां फंसी नज़र आती हैं.

पैसे की बर्बादी

मॉनसून सीजन से ठीक पहले सड़क बनाने से लेकर सड़क पर खुदाई के काम को लेकर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ने चिंता ज़ाहिर की है. विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने कहा कि जैसी काम की गति है उसे देखकर लगता नहीं है कि मॉनसून में काम पूरा हो पाएगा.

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि पीडब्ल्यूडी और इससे जुड़ी कार्यदायी संस्थाओं को यह समझना चाहिए कि मॉनसून सीजन से ठीक पहले इस तरह का काम कहीं न कहीं न सिर्फ़ सरकारी पैसे का नुकसान है बल्कि इससे लोगों की जान पर भी खतरा बना रहता है.

यह भी देखें:
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज